सैन फ्रांसिस्को: फेसबुक के सिक्योरिटी फीचर्स में खामी की वजह से 5 करोड़ यूजर्स का डेटा चोरी हो गया। कंपनी ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। फेसबुक के मुताबिक हैकर्स ने एक्सेस टोकन चुराकर अकाउंट पर कब्जा कर लिया। इस बात की जांच चल रही है कि डेटा का गलत इस्तेमाल तो नहीं हुआ।

फेसबुक ने दो दिन में खाते दुरुस्त किए

फेसबुक का कहना है कि उसकी इंजीनियरिंग टीम को 25 सितंबर को हैकिंग का पता चला। इसके बाद 27 सितंबर तक 5 करोड़ खातों के एक्सेस टोकन रिसेट कर दिए। एहतियात के तौर पर 4 करोड़ दूसरे अकाउंट भी दुरुस्त किए गए। एक्सेस टोकन डिजिटल की है। इसकी मदद से किसी भी डिवाइस में बार-बार यूजर नेम और पासवर्ड डालने की जरूरत नहीं पड़ती, बल्कि यूजर हमेशा लॉगिन रहते हैं।

यूजर्स को फिर से लॉगिन करना पड़ेगा

टोकन रिसेट की वजह से यूजर्स को फेसबुक या इसके जरिए कोई ऐप एसेस करने के लिए अब फिर से पासवर्ड डालना होगा। हैकिंग के शिकार यूजर्स को फेसबुक के न्यूजफीड सेक्शन में नोटिफिकेशन भी मिलेगा। फेसबुक के व्यू एज फीचर की कोडिंग में कमी की वजह से यह घटना हुई। व्यू एज फीचर को एक्टिव करने से यूजर यह देख सकते हैं कि उनका प्रोफाइल दूसरे लोगों को कैसा दिखता है। सुरक्षा को देखते हुए फेसबुक ने फिलहाल व्यू एज फीचर बंद कर दिया। पुलिस और डेटा प्रोटेक्शन कमीशन को मामले की जानकारी दे दी गई है।

शेयर में 2.59% गिरावट- डेटा चोरी की खबर से अमेरिकी शेयर बाजार में फेसबुक का शेयर शुक्रवार को करीब 4% लुढ़क गया। हालांकि, क्लोजिंग 2.59% की गिरावट के साथ 164.46 डॉलर पर हुई।