इंटरनेट डेस्क, आपको बता दे कि एक ऐसे मंदिर का मामला समानें आया है, जहां आज भी घी या तेल से नहीं बल्कि पानी से जलते है, दिए आपने  वैसे तो आपने घी या तेल से जलते दिए तो बहुत देखें होंगे। लेकिन क्या आपने कभी पानी से किसी दिए को जलते देखा है। आपको बता दें कि यह घटना नलखेड़ा गांव से लगभग 15 किलोमीटर दूर एक गाड़िया गांव के पास कालीसिंध नदी के किनारे पर स्थित माता के इस मंदिर में ऐसा ही चमत्कार देखने को मिला।

इस मंदिर मे आज पानी से दिया जलया जाता है। इस मंदिर में होने वाले चमत्कार को देखकर किसी भी व्यक्ति का सिर अपने आप ही श्रद्धाभाव से झुक जाएगा। मंदिर में पूजा-अर्चना करने वाले पुजारी सिद्धूसिंह जी के अनुसार पहले मां के दरबार में हमेशा तेल का दीपक जला करता था। लेकिन बहुत समय पहले मंदिर के पुजारी को स्वप्न में पानी से दिया जलाने को कहाँ, तब से इस मंदिर में दिए को पानी से ही जलाया जाता है। माता के इसी चमत्कार को देखने के लिए आज लोग दूर-दूर से आते हैं।