सिओल. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच 12 जून को सिंगापुर में ऐतिहासिक मुलाकात होनी है। दोनों नेता रविवार को सिंगापुर पहुंच गए। इस बीच खबर है कि किम ने ट्रम्प को जुलाई में दूसरी मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया आने का न्योता दिया है।


दक्षिण कोरियाई अखबार का दावा
- दक्षिण कोरियाई अखबार जूनगांग इल्बो का दावा है कि किम ने ट्रम्प को जुलाई में प्योंगयांग आने का न्योता दिया है।
- अखबार का कहना है कि अगर 12 जून को होने वाली बैठक में परमाणु निरस्त्रीकरण पर सहमति बनती है तो जुलाई में दूसरी मुलाकात हो सकती है।
- रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर दोनों नेताओं की दूसरी समिट भी हो जाती है तो तीसरी मुलाकात वॉशिंगटन में होगी।

हमेशा के लिए शांति चाहता है उत्तर कोरिया
- वहीं, बीबीसी का कहना है कि सिंगापुर में मंगलवार को होने वाली मुलाकात में किम जोंग उन का जोर पूरी तरह से शांति स्थापित करने पर होगा।
- किम के मुताबिक, "पूरी दुनिया की निगाह उस वक्त ट्रम्प पर टिकी थी, जब वे कह रहे थे कि वे मुलाकात को लेकर अच्छा महसूस कर रहे हैं।'
- ट्रम्प-किम की मुलाकात में किन बातों पर चर्चा हो सकती है, इस पर उत्तर कोरिया के सरकारी अखबार ने संभावनाएं जताईं हैं। उसमें लिखा गया है कि अमेरिका चाहता है कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु हथियार खत्म कर दे। लेकिन ये साफ नहीं है कि बदले में उत्तर कोरिया को क्या मिलेगा।

किम जोंग सुरक्षा की वजह से खुद के प्लेन में नहीं बैठे, 3 विमानों के साथ 2 दिन पहले सिंगापुर आए
- किम सुरक्षा वजहों से उ. कोरिया के विमान में नहीं बैठे। वह चकमा देकर चीनी प्लेन से सिंगापुर पहुंचे। 
- उनके विमान के लैंड होने से पहले उ. कोरिया के 2 विमान चांगी एयरपोर्ट पर उतर चुके थे। इनमें किम का प्राइवेट प्लेन भी था, जिसे किम के दादा ने रूस से लिया था। पर इससे किम बाहर नहीं निकले तो एयरपोर्ट कर्मी हैरान रह गए। 
- बाद में वह एयर चाइना के बोइंग से निकले। एयर वेबसाइट फ्लाइटरेडार 24 के मुताबिक किम प्योंगयांग से बीजिंग गए, फिर सिंगापुर आए।

समिट पर 102 करोड़ रुपए का आ रहा खर्च
- ट्रम्प और किम की इस समिट पर करीब 102 करोड़ रुपए का खर्च आ रहा है। इसे सिंगापुर उठा रहा है। इसमें आधा सुरक्षा खर्च है। 
- सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग ने कहा कि दुनिया की पहल के लिहाज ये खर्च वाजिब है, इसमें हमारे हित भी शामिल हैं। 
- बता दें कि 7 साल में किम की ये सबसे लंबी विदेश यात्रा है। प्योंगयांग से सिंगापुर की दूरी 4743 किमी है। इससे पहले वे दो बार ट्रेन से चीन गए थे।

अलग-अलग होटलों में रुके हैं किम-ट्रम्प
- सिंगापुर में किम जोंग प्रतिनिधिमंडल समेत उन सेंट रेगिस होटल में रुके हुए हैं। इस होटल से करीब एक किमी दूर शांगरी ला में ट्रम्प ठहरे हैं।
- मंगलवार को आईलैंड रिजॉर्ट सेंटोसा में दोनों नेताओं की मुलाकात होगी।