नई दिल्ली : अगर आप क्रिकेट फैन हैं तो बॉल मशीन के बारे में आपने जरूर सुना होगा। लेकिन अभी तक बॉल मशीन का जिक्र केवल तेज गेंदबाजी की प्रैक्टिस के लिए किया जाता था। भारत के महान बल्लेबाज और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर बॉल मशीन से प्रैक्टिस करते थे। लेकिन क्या आपको पता है कि बॉल मशीन स्पिन गेंदबाजी की प्रैक्टिस के लिए भी उपयोग में लाई जाती है? जी हां, अब स्पिन गेंदबाजी की प्रैक्टिस एक मशीन कराएगी लेकिन आप यह जानकर हैरान हो सकते हैं कि यह पहली बार नहीं कि स्पिन गेंदबाजी की प्रैक्टिस के लिए एक मशीन का इस्तेमाल हो रहा हो। भारत इंग्लैंड टी20 सीरीज में भारत के रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव के फिरकी में इंग्लैंड के बल्लेबाज ऐसे फंसे के उन्हें वो दिन याद आ गए जब एशेज में शेन वार्न का खौफ चल रहा था।

साल 2005 मे जब ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वार्न का जलवा था तब इंग्लैंड की टीम उनकी गेंदबाजी का सामना करने में काफी परेशानी महसूस कर रही थी। कारण, इंग्लैंड क्या दुनिया तक में कहीं ऐसा कोई गेंदबाज था ही नहीं जो उनके जैसी गेंदबाजी कर सके। इसका तोड़ इंग्लैंड ने एक मशीन का इस्तेमाल कर निकाला। इस मशीन का नाम मर्लिन है। कहा जाता है कि मार्लिन किसी भी तरह की गेंदबाजी करने में सक्षम है जिसमें हर तरह की स्पिन शामिल है। मजेदार बाद यह है कि 2005 में जब इंग्लैंड ने इस स्पिन गेंदबाजी का सहारा लिया था, उसका उसे फायदा नहीं हुआ और उस समय शेन वार्न ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 40 विकेट झटक डाले। 

ऐसा ही कुछ हाल एक बार फिर इंग्लैंड टीम का हो रहा है लेकिन खतरा इस बार शेनवार्न या ऑस्ट्रेलिया नहीं बल्कि टीम इंडिया है और उसका एक चाइनामैन गेंदबाज है। टीम इंडिया के रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव ने टी20 सीरीज के पहले मैच में 9 ओवर के बाद इंग्लैंड को ऐसा उलझाया कि इंग्लैंड खेमे में तू चल मैं आया कि सिलसिला शुरू हो गया। यहां तक कि फॉर्म में चल रहे जस बटलर को अपना गियर बदलना पड़ा। 9 ओवर तक बटलर 21 गेंदों में 37 रन बनाकर खेल रहे थे।

 

अपने स्पैस की पहली ही गेंद पर जरूर बटलर ने कुलदीप को शानदार चौका लगाया। लेकिन अगली चार गेंदों पर कुलदीप ने बटलर को एक भी रन लेने नहीं दिया। ओवर की छठी गेंद पर भी बटलर एक ही रन ले सके। इसके बाद कुलदीप पर इंग्लैंड के बल्लेबाज हावी नहीं हो सके। बटलर ने हार्दिक के ओवर में भरपाई करते हुए जरूरप 11वें ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाकर अबना अर्धशतक पूरा कर लिया लेकिन इसके बाद तो कुलदीप ने इंग्लैंड टीम में ऐसी हलचल मचाई कि बटलर असहाय होकर अपने सामने विकेट गिरते देखते रहे। भारत के खिलाफ जोस बटलर ने इंग्लैंड के लिए 69 रनों की शानदार पारी खेली

अपने आखिरी ओवर में कुलदीप ने दो बार बटलर को ललचाया और बटलर कैच उछाल बैठे पहली बार कैच छूटने के दो गेंदों के बाद ही कप्तान विराट ने बटलर को लपकने में कोई गलती नहीं की। कुलदीप की दहशत को इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने खुद स्वीकार किया। उन्होंने माना की अच्छा खेलने के बावजूद कुलदीप ने उनको छका दिया। 

कुलदीप की इसी दहशत का नतीजा है कि इंग्लैंड अब कुलदीप को अच्छे से खेलना चाहती है। उनके पास कुलदीप की तरह कोई स्पिनर तो नहीं है, इस लिए अंग्रेजों को एक बार फिर मार्लिन मशीन की याद आई है। जोस बटलर का कहना है कि उनकी टीम कुलदीप की गेंद का सामना करने के लिए मार्लिन की मदद ले सकती है जो कम से कम उसकी गेंदों की तरह कोण तो बना ही सकती है। हमारे कई बल्लेबाज पहली बार कुलदीप का सामना कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें कुलदीप की गेंदबाजी समझने में एक दो मैच तो लग ही सकते हैं। 

कुलदीप टीम इंडिया के अहम और प्रमुख गेंदबाज बनते जा रहे हैं। विराट कोहली का भी उनपर भरोसा दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। दक्षिण अफ्रीका सीरीज में भी कुलदीप ने अपने कप्तान को निराश नहीं किया था। इंग्लैंड दौरे में अब कुलदीप औप इंग्लैंड बल्लेबाजों खास तौरपर जोस बटलर का मुकाबला दिलचस्प होगा इतना तो तय है।