जयपुर: कोरोना के खिलाफ जंग में माननीयों का सामाजिक सरोकार देखने को मिला है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर मंत्रियों, विधायकों और विपक्षी पार्टी के नेताओं ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि जमा कराने का ऐलान किया है. सोमवार को बड़ी संख्या में मंत्री और विधायक आगे आये है, लाखों रुपये की सहायता इनके जरिये कोरोना के खिलाफ जज़्बे को मिलेगी.

अभी वक्त सियासत का नहीं, मिलकर मुकाबले का है:  
समय है कोरोना वायरस के खिलाफ मिलकर मुकाबले का. जंग में हमारे जनप्रतिनिधि भी पीछे नहीं है. साथ दे रहे है हमारे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का. जिनकी एक अपील पर मंत्री और विधायकों ने अपने 1 या 2 महिने का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कराने का ऐलान कर दिया. पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता वसुंधरा राजे भी आगे आई और उन्होंने भी सहायता राशि देने की घोषणा की. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेता भी आगे और उन्होंने मुख्यमंत्री की अपील का साथ दिया. आइये बताते है वो दिग्गज सियासी चेहरे जिन्होंने मुख्यमंत्री सहायता कोष में सहायता प्रदान की.

नेताओं का जज्बा 
-वसुंधरा राजे, पूर्व मुख्यमंत्री
-लालचंद कटारिया, कृषि मंत्री
-हरीश चौधरी, राजस्व मंत्री
-ममता भूपेश, महिला बाल विकास राज्य मंत्री
-भंवर सिंह भाटी, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री 
-सुखराम विश्नोई, वन राज्यमंत्री 
-टीकाराम जूली, श्रम राज्य मंत्री
-सुभाष गर्ग तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री, आरएलडी विधायक 
-नरेन्द्र बुढ़ानिया विधायक 
-भंवरलाल शर्मा विधायक 
-डॉ राजकुमार शर्मा विधायक
-महेन्द्रजीत सिंह मालवीय विधायक 
-विजयपाल मिर्धा 
 -रामलाल शर्मा बीजेपी विधायक 
-प्रताप सिंह सिंघवी बीजेपी विधायक 
-मेवाराम जैन विधायक
-कृष्णा पूनिया विधायक
-राजकुमार गौड निर्दलीय विधायक
-खुशवीर जोजावर निर्दलीय विधायक 
-हाकम अली विधायक
-महेन्द्र विश्नोई विधायक
-प्रशांत बैरवा विधायक 
-जेपी चंदेलिया विधायक 
-जोगेंद्र अवाना 
-नारायण बेनीवाल आरएलपी विधायक 
-इंदिरा बावरी आरएलपी विधायक 

जनप्रतिनिधि ​भी निभा रहे हैं सामाजिक सरोकार: 
बहरहाल लगातार सभी मंत्री और कांग्रेस पार्टी के विधायकों को मुख्यमंत्री सहायता कोष में स्वेच्छा से अपनी ओर से योगदान देना जारी है. सिलसिला थमने वाला नहीं है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी भी आगे आ रहे है. दिनों दिन मददगारों का कारवां बढेगा. दलगत सियासत से ऊपर उठकर अन्य दलों के जनप्रतिनिधि भी सामाजिक सरोकार निभायेंगे.