नई दिल्ली, दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पर घने कोहरे के कारण रविवार सुबह 90 से अधिक विमानों की उड़ान सेवाएं प्रभावित हुईं। घने कोहरे के कारण दृश्यता कम होकर 50 मीटर रह गई थी। हवाईअड्डा की वेबसाइट पर उपलब्ध विमानों से संबंधित जानकारी के अनुसार 54 घरेलू विमानों की उड़ानों में देरी हुई और 17 विमानों का मार्ग बदलकर उन्हें अन्य हवाईअड्डा भेजा गया।

घने कोहरे के कारण 11 अंतरराष्ट्रीय विमानों की उड़ान सेवाओं में देरी हुई और आठ विमानों का मार्ग परिवर्तित किया गया। सूचना के अनुसार अब तक चार विमानों की उड़ान रद्द की गई हैं जिनमें तीन घरेलू एवं एक अंतरराष्ट्रीय विमान शामिल हैं। दिल्ली क्षेत्र एवं आईजीआई हवाईअड्डा के लिए भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के निदेशक आरके जेनामनी ने कहा, सुबह साढ़े पांच बजे रनवे पर दृश्यता 50-75 मीटर के बीच थी।

इस साल कोहरे की यह अब तक की सबसे खराब स्थिति अनुभव की गई है। दिल्ली हवाईअड्डे के पास कम दृश्यता में भी विमानों के उतरने के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी हैं और इस कारण 50 मीटर दृश्यता में भी विमानों को उतर पाना संभव हो पाता है। हालांकि विमानों को उड़ान भरने के लिए 125 मीटर दृश्यता की आवश्यकता होती है।