नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donal Trump) के दोस्ती की दास्तां का पार्ट-2 आज से ठीक 12 दिन बाद शुरू होने जा रहा है. 24 फरवरी को ट्रंप भारत आएंगे लेकिन भारत आने से पहले ही उन्होंने दोस्ती का तोहफा भारत को दे दिया है. भारत ने अमेरिका के साथ जो डील की है उसे  सुनकर पाकिस्तान (Pakistan) बेचैन हो गया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान
(Imran Khan) का ब्लड प्रेशर बढ़ गया है. अब चीन की चालाकी भी काम नहीं आने वाली है. वहीं आज राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत दौरे पर खुशी जताई है. पीएम मोदी को अपना दोस्त कहा. पीएम मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप को धन्यवाद दिया और ग्रैंड वेलकम का भरोसा दिया.  

दोनों की दोस्ती कमाल की है. एक बार फिर इस दोस्ती का नया दौर आज से 12 दिन बाद शुरू होने जा रहा है. एक बार फिर दोस्ती की जय होगी और कूटनीतिक मोर्चे पर भारत की विजय होगी. इसकी झलक अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत आने से पहले ही दे दी है. 5 महीने पहले ह्यूस्टन के मेगा शो में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दोस्त ट्रंप को गदगद कर दिया था. अपने शानदार अंदाज में उन्हें मंच थमाया और फिर आतंक के खिलाफ मजबूत स्तंभ बताकर उनके लिए तालियां बजवाई. 

एक गहरे दोस्त की तरह प्रधानमंत्री मोदी ने डॉनल्ड ट्रंप को भारत आने का न्यौता दिया और वो मौका आ गया है जब एक बार फिर उनकी दोस्ती, उनकी कमेस्ट्री, उनकी एनर्जी और उनकी सनेर्जी को पूरी दुनिया देखेगी. सबसे बड़े स्टेडियम में जब सबसे बड़ी मुलाकात होगी तो चीन और पाकिस्तान जलन से सुलगने लगेंगे. हाउडी मोदी के ठीक पांच महीने बाद दुनिया एक बार फिर से दो वर्ल्ड लीडर की दोस्ती को करीब से देखेगी और भारत-अमेरिकी की मज़बूत दोस्ती से चीन पाकिस्तान की टेंशन भी जरूर बढ़ेगी. 

Howdy Modi

हम ऐसा क्यों कह रहे हैं आपको बताते है. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने आने से पहले भारत के साथ ऐसी डील की है जिससे देश के दुश्मन यानी आंतकिस्तान की बेचैनी बढ़ गई है. दरअसल भारत अमेरिका से नया इंटीग्रेटेड एयर डिफेंस खरीदने जा रहा है. वायु रक्षा प्रणाली को भारत ने मजबूत करने के लिए अमेरिका से 13,500 करोड़ की डील की है. रक्षा सौदे को अमेरिकी कैबिनेट से मंजूरी भी मिल गई है. बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत ने अपनी हवाई ताकत को बढ़ाने का फैसला किया है. हवाई हमले के खतरे बचने के लिए अपनी मौजूदा वायु रक्षा प्रणाली का विस्तार करना चाहता है. अब आपको दिखाते है की इस नए इंटीग्रेटेड एयर डिफेंस सिस्टम से हिंदुस्तान को कौन- कौन से हथियार मिलेंगे जो दुश्मनों को पलभर में नेस्तनाबूत कर देंगे. 

118 एमराम यानि एडवांस मीडियम रेंज एयर टू एयर मिसाइल, 134 स्टिंगर एफआइएम-92एल मिसाइल, पांच सेंटिनल रडार सिस्टम, तीन एमराम गाइडेंस सिस्टम, इलेक्ट्रिकल-ओपटिकल/इंफ्रारेड सेंसर सिस्टम, कैनेस्टर लॉन्चर और हाई मोबेलिटी लॉन्चर भी इस डील में शामिल है. इसके साथ ही 32 एम4 ए1 राइफल और मल्टी-स्पेक्ट्रल टारगेटिंग सिस्टम-मॉडल ए भी भारत अमेरिका से खरीदेगा. 

अमेरिका का कहना है कि इस डिफेंस डील से दोनों देशों के सामरिक संबंध मजबूत होंगे और दोनों देशों की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा में इजाफा होगा. ऐसे में पाकिस्तान को समझ लेना चाहिए कि अब उसकी खैर नहीं है क्योंकि 'एशिया का किंग' बनने के लिए ये  'पावरफुल पार्टनरशिप' आतंक के मददगारों पर एक साथ आघात करने वाली है.