नई दिल्ली, बिहार और उत्तर प्रदेश सहित आठ राज्यों में बाढ़ और हिमाचल प्रदेश में भूस्खलन की समस्या के बीच राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाने के लिये अतिरिक्त दल भेजे हैं। आपदा प्रभावित राज्यों में जानमाल के नुकसान के संबंध में एनडीआरएफ द्वारा जारी ब्योरे के मुताबिक अब तक इन राज्यों में बाढ़ और भूस्खलन में मारे गये 99 लोगों के शव बरामद किये जा चुके हैं। बिहार में बाढ़ का संकट गहराने के कारण एनडीआरएफ ने आज चार अतिरिक्त दल पंजाब के बठिंडा से बिहार में पटना के लिये एयरलिफ्ट कराये हैं।

एनडीआरएफ से प्राप्त आधिकारिक जानकारी के मुताबिक बिहार, असम, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, अरणाचल प्रदेश, गुजरात, राजस्थान और त्रिपुरा के आपदा प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य के लिये 113 टीमें तैनात की गई हैं। अभियान के दौरान बाढ़ में फंसे 2819 लोगों को बचाने और 37005 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में कामयाबी मिली है। बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित बिहार में एनडीआरएफ ने 27 दल तैनात किये हैं जबकि असम में 18 और उत्तर प्रदेश में 11 दलों को राहत और बचाव कार्य में लगाया गया है।

अभियान के दौरान बिहार से 10, पश्चिम बंगाल से पांच, असम से चार और उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान से दो दो शव बरामद किये गये हैं। गुजरात में बाढ़ से उत्पन्न हालात फिलहाल स्थिर हैं। राज्य में अब राहत एवं बचाव कार्य जारी है। यहां तैनात एनडीआरएफ की छह टीमों ने अब तक बाढ़ में मारे गये 11 लोगों के शव बरामद किये हैं। हिमाचल प्रदेश में पिछले दिनों मंडी शिमला राजमार्ग पर भूस्खलन के बाद एनडीआरएफ द्वारा शुरू किये गये अभियान के दौरान अब तक 46 शव बरामद किये जा चुके हैं। आपदा प्रभावित इलाके में अभी भी एनडीआरएफ की दो टीमें राहत एवं बचाव अभियान चला रही है। अभियान के दौरान मिट्टी और चट्टानों में फंसे तीन लोगों को अब तक सुरक्षित निकाला जा चुका है।