नई दिल्ली:उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली पुलिस ने हिंसा के इन मामलों में 123 एफआईआर दर्ज कर ली है. इन दंगों में शामिल उपद्रवियों की बात करें को पुलिस ने अब तक 630 लोगों को हिरासत में लिया है. दंगा प्रभावित इलाकों में एफएसल और क्राइम ब्रांच की एसआईटी लगातार साक्ष्य जुटाने में लगी है. 

जाफराबाद में दंगे का आरोपी शाहरुख अब तक दिल्ली पुलिस के हाथ नहीं लगा है, वहीं चांदबाग इलाके में दंगे का एक और बड़ा आरोपी ताहिर हुसैन भी अब तक कानून की गिरफ्त में नहीं आया है. गुरुवार ज़ी न्यूज पर हमने आपको ताहिर के तहखाने की ग्राउंड रिपोर्ट दिखाई थी. ताहिर की बिल्डिंग से बरामद पेट्रोल बम, गुलेल, पत्थर जैसे दंगे के सामान दिखाए थे. इस एक्सक्लूसिव रिपोर्टिंग के बाद दिल्ली पुलिस ने ताहिर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया था लेकिन ये केस दर्ज हुए 24 घंटे बीत चुके हैं और ताहिर को लेकर भी दिल्ली पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं.  

दिल्ली दंगा मामले में पुलिस ने दयालपुर थाने में आम आदमी पार्टी के निगम पार्षद ताहिर हुसैन पर आईपीसी की धारा 302 और अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है. क्राइम ब्रांच मामले की जांच कर रही है. इससे पहले आज ही दिल्ली पुलिस ने ताहिर पर शिकंजा कसते हुये खजूरीख़ास इलाके में ताहिक की फैक्ट्री और दुकान को सील किया था.