नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में शनिवार को हुए विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने चौंकाने वाला बयान दिया है. उन्होंने दिल्ली में हुए अपेक्षाकृत कम मतदान के लिए शाहीन बाग में हुई फायरिंग को जिम्मेदार ठहराया है. थरूर ने कहा कि दिल्ली चुनाव में कम वोटर टर्नआउट रहा. इसका कारण शाहीन बाग में हुई फायरिंग हो सकता है.

'...तो छीने जा सकते हैं वोटिंग के अधिकार'
कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने सीएए और एनआरसी को लेकर भी बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'ऐसी आशंका जताई जा रही है कि नागरिकता संशोधित कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) के जरिये ठीक कागज (दुरुस्‍त दस्‍तावेज) न दिखा पाने वालों के वोटिंग अधिकार छीने जा सकते हैं.'

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों को बताया साहसी

बता दें कि इससे पहले भी शशि थरूर ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन पर टिप्पणी की थी. कांग्रेस सांसद ने धरना-प्रदर्शन कर रही महिलाओं को साहसी बताया था. थरूर ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि एनपीआर इस सरकार की ओर से एनआरसी को लागू करने का तरीका है. साथ ही उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया था कि कांग्रेस शासित राज्य एनपीआर या एनआरसी में सहयोग नहीं करेंगे. थरूर ने कहा, 'सत्तारूढ़ सरकार के जरिए जेएनयू के खिलाफ एक बड़ा एजेंडा है जो लोग देश के टुकड़े-टुकड़े करना चाहते हैं, उसमें देश की सरकार शामिल है. वे असली टुकड़े-टुकड़े गिरोह हैं.'