जयपुर: दिल्ली विधानसभा चुनाव में राजस्थान के कांग्रेस नेताओं ने मोर्चा संभाल लिया. दिल्ली राज्य की 70 विधानसभा सीटों पर राजस्थान के कांग्रेस के नेताओं ने प्रचार की जिम्मेदारी हाथ में ले रखी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ सचिन पायलट स्टार प्रचारकों की भूमिका में है. गहलोत रह चुके दिल्ली विधानसभा के पहले कांग्रेस प्रभारी. हरीश चौधरी, डॉ रघु शर्मा, रमेश मीना, गोविन्द सिंह डोटासरा,शाले मोहम्मद, प्रमोद जैन भाया, राजेन्द्र यादव, टीकाराम जूली और भजन लाल जाटव समेत प्रमुख मंत्रियों और विधायकों को भी दिल्ली विधानसभा चुनाव में जिम्मेदारी दी है.

राजस्थान के कांग्रेस नेता भी दिल्ली पहुंच चुके: 
दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को कड़े मुकाबले से जूझना पड़ रहा है. आम आदमी पार्टी और बीजेपी से से हर सीट पर कांग्रेस को कड़ी प्रतिस्पर्धा करनी पड़ी है. हालांकि कुछ सीटों पर कांग्रेस मजबूत है. राजस्थान के कांग्रेस नेता भी दिल्ली पहुंच चुके है. सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम-पीसीसी चीफ सचिन पायलट बतौर स्टार प्रचारक विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में प्रचार करेंगे. अशोक गहलोत पहले दिल्ली राज्य कांग्रेस के तब प्रभारी रहे थे जब वो एआईसीसी के महासचिव थे. गहलोत कहां कहां प्रचार करेंगे यह एआईसीसी ने तय किया है. मंत्री डॉ रघु शर्मा, रमेश मीना, हरीश चौधरी, शाले मोहम्मद, गोविन्द डोटासरा ने दिल्ली के दौरे किये है. 

--राजस्थान के कांग्रेस नेताओं को दिल्ली में कमान-- 
---इन विधायकों को दिया दिल्ली का टास्क
मुरारी लाल मीना, नरेन्द्र बुढ़ानिया, जी आर खटाना
रीटा चौधरी, शकुंतला रावत, कृष्णा पूनिया
राकेश पारीक, वेदप्रकाश सोलंकी, इंद्राज गुर्जर
दानिश अबरार, प्रशांत बैरवा, मुकेश भाकर
रामनिवास गावडिया, जाहिदा, रोहित बोहरा,
रफीक खान, अमीन कागजी, जगदीश चंद्र
चेतन डूडी सरीखे विधायकों को सौंपी कमान

---इन पीसीसी पदाधिकारियों को कमान---
दुर्रु मियां, मंजू शर्मा, भगवान सहाय सैनी, करण सिंह राठौड़
शंकर लाल मीना, अब्दुल रज्जाक भाटी,आबिद काजी
इमरान कुरैशी, पुष्पेन्द्र भारद्वाज, मनीष यादव
पंकज काकू, भंवर लाल पुजारी, भीमराज भाटी
राकेश बोयत, रामकुमार दाद्यीच 
सुरेश चौधरी,महेन्द्र रलावता, बालेन्दु सिंह शेखावत
राजेन्द्र गोदारा, करण सिंह उचियाडा,अजीजुद्दीन आजाद
पारस मल, हरजिन्द्र सिंह बराड, आर सी चौधरी,कमल मीना
रेहाना रियाज, अभिमन्यु पूनिया 
अर्चना शर्मा,भरत राम मेघवाल, शंकर यादव
घनश्याम मेहर,कुलदीप इंदौरा, ज्योति खंडेलवाल
पवन गोदारा, जगदीश श्रीमाली, मनीष धराणियां
नीरज डांगी, महेन्द्र रलावता
मुरारी लाल मीना, नरेन्द्र बुढ़ानिया, जी आर खटाना
रीटा चौधरी, शकुंतला रावत, कृष्णा पूनिया, कमल मीना 
राकेश पारीक, वेदप्रकाश सोलंकी, इंद्राज गुर्जर
दानिश अबरार, प्रशांत बैरवा, मुकेश भाकर
रामनिवास गावडिया, जाहिदा, रोहित बोहरा,
रफीक खान, अमीन कागजी, जगदीश चंद्र, चेतन डूडी 

देवेन्द्र यादव के विधानसभा क्षेत्र बादली में राज्य कांग्रेस के सर्वाधिक नेता डटे हुये है इसके पीछे कारण यह है कि यादव पीसीसी के प्रभारी सचिव रहे हैं. दिल्ली विधानसभा में केजरीवाल की लहर चली तो फिर कांग्रेस के लिये मुश्किल होगी लेकिन CAA, महंगाई, शाहीन बाग समेत कई कारणों से उम्मीद है कांग्रेस का इस बार खाता खोल सकता है. देवेन्द्र यादव, हारुन यूसुफ़, अरविन्दर सिंह लवली, अल्का लाम्बा, आदित्य शास्त्री समेत कुछ कांग्रेस उम्मीदवारों से खासी उम्मीदें है.