नई दिल्‍ली. मुंबई के सलामी बल्‍लेबाज 19 साल के यशस्‍वी जायसवाल (yashasvi jaiswal) ने केरल के अनुभवी गेंदबाज श्रीसंत (sreesanth) की गेंदों पर जमकर चौके छक्‍के उड़ाए. सैयद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी टूर्नामेंट (syed mushtaq ali) में मुंबई और केरल के बीच बुधवार को खेले जा रहे मुकाबले में मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला लिया. सलामी बल्‍लेबाज यशस्‍वी जायसवाल और आदित्‍य तारे में 88 रन की साझेदारी कर मुंबई को बेहतरीन शुरुआत दिलाई. युवा बल्‍लेबाज यशस्‍वी ने सात साल बाद मैदान पर वापसी करने वाले श्रीसंत की जमकर धुनाई कर 32 गेंदों पर 4 चौके और दो छक्‍के लगाकर 40 रन की पारी खेली.
छठे ओवर में तो श्रीसंत की गेंदों पर यशस्‍वी ने कोहराम मचा दिया. उन्‍होंने तीन गेंदों पर 16 रन जड़ दिए. पहली गेंद डॉट रही. श्रीसंत के ओवर की दूसरी गेंद पर यशस्‍वी ने छक्‍का लगाया. तीसरी गेंद पर लगातर दूसरा छक्‍का लगाया. तीसरी गेंद पर चौका लगाया. इस ओवर में श्रीसंत ने कुल 18 रन लुटाए.

सात साल बाद श्रीसंत ने की मैदान पर वापसी
श्रीसंत ने 11 जनवरी को पुडुचेरी के खिलाफ सात साल बाद क्रिकेट के मैदान पर वापसी की थी. उन्‍होंने चार ओवर में 29 देकर एक विकेट लिया था. उन्होंने पुडुचेरी के बल्लेबाज फाबिद अहमद को आउटस्विंगर पर बोल्ड मारा. विकेट लेने के बाद श्रीसंत भावुक नजर आए थे. मैच फिक्सिंग के आरोपों में सात साल का प्रतिबंध झेल चुके श्रीसंत का यह पहला टूर्नामेंट है.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने आईपीएल (IPL) में स्पॉट फिक्सिंग में कथित भागीदारी के कारण श्रीसंत पर प्रतिबंध लगाया था. मैच खत्म होने के बाद उन्होंने ट्विटर पर प्रशंसकों को प्यार देने के लिए धन्यवाद कहा था. 2007 और 2011 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे श्रीसंत ने कहा है कि ये तो बस शुरुआत है. श्रीसंत ने इंटरनेशनल क्रिकेट में बैन होने से पहले 27 टेस्ट में 87 विकेट लिए हैं और 53 वनडे मैचों में 75 विकेट चटकाया है.