शारजाह.मैच दर मैच...पारी दर पारी...राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के युवा बल्लेबाज़ संजू सैमसन (Sanju Samson) का फ्लॉप शो लगातार जारी है. लिहाजा राजस्थान का भी हार का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स  (Delhi Capitals) ने राजस्थान को 46 रनों से करारी शिकस्त दे दी. टूर्नामेंट में राजस्थान की ये चौथाी हार है. जबकि सैमसन भी लगातार चौथी पारी में फ्लॉप रहे. आईपीएल के पहले दो मैच में रनों की सुनामी लाने वाले बल्लेबाज़ ने एक बार फिर से सरेंडर कर दिया. किसी को समझ नहीं आ रहा है कि आखिर इस बार के आईपीएल में सबसे ज्यादा 16 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज़ को क्या हो गया है. क्यों उनके बल्ले से रन सूख गए हैं?

सैमसन का फ्लॉप शो

शुक्रवार को संजू सैमसन सिर्फ 5 रन बना कर आउट हो गए. शारजाह के मैदान पर पिछले महीने 74 और 85 रनों की धमाकेदार पारी खेलने वाले सैमसन अब एक-एक रन के लिए तरसने लगे हैं. पिछली चार पारियों में सैमसन ने 5, 0, 4 और 8 का स्कोर बनाया है. शारजाह में जब सैमसन ने छक्के की बारिश की थी तो क्रिकेट के जानकार सवाल उठा रहे थे कि उन्हें क्यों नहीं भारतीय टीम में मौका मिलता है. लेकिन इसका जवाब शायद कर किसी को मिल गया है. सैमसन की बैटिंग में निरंतरता की कमी है. एक दो मैच में वो रन बनाने के बाद शांत हो जाते हैं.

हर सीज़न में धमाके के बाद फ्लॉप
आईपीएल के लगभग हर सीज़न में देखा गया है कि शुरुआती मैचों में रन बनाने के बाद सैमसन फ्लॉप हो जाते हैं. आंकड़ों पर नज़र डालें तो साल 2017 में उन्होंने 5 सिंगल डिजिट का स्कोर बनाया था. साल 2018 में 4 बार उनका स्कोर 10 से नीचे रहा था. 2019 में 4 बार वो दहाई का आंकड़ा छू नहीं पाए. और अब साल 2020 के सीज़न में अब तक वो 4 बार सिंगल डिजिट के स्कोर पर आउट हो चुके हैं.
एक्सपर्ट्स के मुताबिक सैमसन को शॉर्ट गेंदे खेलने में काफी ज्यादा परेशानी हो रही है. शारजाह के छोटे मैदान पर उनकी ये कमियां पहले दो मैचों में नहीं दिखी. दरअसल खराब पुल शॉट भी यहां बाउंड्री पार छह रनों के लिए चली जाती थी. लेकिन बड़े मैदान पर वो इन शॉट्स पर आउट हो रहे हैं. शारजाह के मैदान पर उम्मीद थी कि सैमसन एक बार फिर से रनों की बारिश करेंगे. लेकिन एक बार फिर से उन्होंने पुरानी गलती दोहरा दी.