नई दिल्ली:पाकिस्तान के वनडे और टी20 कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) इंग्लैंड दौरे से घर नहीं लौटे हैं, वो इस वक्त समरसेट की टीम से टी20 ब्लास्ट खेल रहे हैं. इंग्लैंड दौरे पर समरसेट काउंटी ने उनके साथ करार किया लेकिन पहले ही मैच के बाद वो विवादों में घिर गए. दरअसल समरसेट के लिए जब बाबर (Babar Azam) पहला मैच खेलने उतरे तो उनकी जर्सी पर शराब कंपनी का लोगो था. इसके बाद बाबर को सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल किया गया. ट्रोल होने के बाद बाबर आजम ने इंग्लिश काउंटी समरसेट को अपनी जर्सी बदलने के लिए कह दिया है.

बाबर आजम ने समरसेट से जर्सी बदलने को कहा
बाबर आजम (Babar Azam) ने इंग्लिश काउंटी समरसेट से कहा कि वह इंग्लैंड में टी20 ब्लास्ट प्रतियोगिता के दौरान अपनी शर्ट पर शराब कंपनी का लोगो नहीं लगाएंगे. पाकिस्तानी कप्तान के करीबी सूत्रों ने पुष्टि की कि समरसेट के साथ उनके कॉन्ट्रैक्ट में उन्होंने साफ किया है वह किसी शराब कंपनी का लोगो लगाकर उसका प्रचार नहीं करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक, 'जाहिर है कि बाबर की शर्ट के पीछे लोगो गलती से लगा था और काउंटी ने उन्हें आश्वासन दिया है कि अगले मैच के लिये उसे हटा दिया जाएगा.' बता दें पहले मैच में बाबर आजम ने समरसेट के लिए 42 रनों की अच्छी पारी खेली थी. समरसेट ने ये मैच 16 रनों से अपने नाम किया.

कई क्रिकेटर्स को शराब कंपनियों से परहेज
बता दें कई ऐसे क्रिकेटर रहे हैं जिन्होंने शराब कंपनियों की स्पॉन्सर वाली टीशर्ट नहीं पहनी है. साउथ अफ्रीका के दिग्गज खिलाड़ी हाशिम अमला ने पूरे करियर में अपनी टीम की जर्सी पर शराब का लोगो नहीं लगने दिया. बता दें साउथ अफ्रीकी टीम की स्पॉन्सर एक शराब कंपनी है. इसके चलते हाशिम ने पूरे करियर में मैच फीस का कुछ हिस्सा जुर्माने के तौर पर भरा. इंग्लैंड के क्रिकेट खिलाड़ी आदिल रशीद और मोइन अली भी शराब कंपनियों के स्पॉन्सर वाली टीशर्ट नहीं पहनते हैं. साथ ही वो जीत के जश्न से भी दूर रहते हैं, जिसमें शैंपेन उड़ाई जाती है.