नई दिल्ली:कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार (Goverment) ने बड़ा कदम उठाया है. अभी तक जितने भी जिलों में कोरोना के पॉजिटिव मामले पाए गए हैं, उन्हें लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है. ऐसे 80 जिले हैं, जिन्हें 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन किया गया है. बताया जा रहा है कि इन जिलों में कोरोना वायरस (Coronavirus) से सबसे ज्यादा प्रभावित दिल्ली के सभी सात जिलों के अलावा मेट्रो शहर मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता और लखनऊ (Lucknow) प्रमुख रूप से शामिल हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकारें (State Governments) कोरोनो वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मामलों या मौतें वाले इन 80 जिलों में मात्र जरूरी कार्यकलापों के लिए अनुमति देंगीं.

इस दौरान सरकार ने जिन जिलों में लॉकडाउन किया है, वे हैं-


 

रेलवे ने भी 31 मार्च तक के लिए बंद की रेल सेवाएं
इससे पहले भारतीय रेलवे (Indian Railway) में भी बड़ा कदम उठाते हुए यात्री सेवाओं को 22 मार्च की आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक बंद रखने की घोषणा की है. इस बीच केवल मालगाड़ियां चलती रहेंगीं.

इसके अलावा दिल्ली मेट्रो रेल सेवा (Delhi Metro Rail Service), कोलकाता मेट्रो रेल सेवा, मुंबई लोकल और कई उपनगरीय सेवाओं को भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है.

 

पीएम मोदी ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए जनता कर्फ्यू का किया है ऐलान
बता दें कोरोना वायरस (Corona Virus) के खतरे को मात देने के लिए आज पूरे देश ने 'जनता कर्फ्यू' का पालन किया. इसके चलते ट्रेनें, एयरपोर्ट सब बंद रहे. बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा. लोग घरों में बैठकर कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोक रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक 'जनता कर्फ्यू' ऐलान किया था. इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) का बड़ा बयान सामने आया. हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा कि कुछ असामाजिक तत्व जनता कर्फ्यू को लेकर गलत अफवाह फैला रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा , 'कुछ असामाजिक तत्व सोशल मीडिया पर गलत अफवाह फैला रहे हैं कि जनता कर्फ्यू के समाप्त होने के बाद कोरोना वायरस पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा. वे रात 9 बजे के बाद लोगों को बाहर आने के लिए प्रेरित कर रहे हैं.' हर्षवर्धन ने कहा, 'यह सूचना गलत है और जनता को गुमराह करने का प्रयास है. मैं अपील करता हूं ऐसी अफवाओं पर ध्यान नहीं दिया जाए.'