वाशिंगटन, अमेरिका में 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनावों के दौरान ट्रंप के प्रचार अभियान और रूस के बीच कथित संबंधों की जांच कर रहे विशेष काउंसल रॉबर्ट मूलर इस संबंध में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से पूछताछ करेंगे इसकी संभावना बहुत कम मालूम होती हैं। ट्रंप ने खुद यह बात कही है। एफबीआई के पूर्व निदेशक मूलर इस मामले में पहले ही ट्रंप के करीबी सहयोगियों और परिवार के कई सदस्यों से पूछताछ कर चुके हैं।

गत एक सप्ताह से अमेरिकी मीडिया में खबरें आ रही हैं कि मूलर इस जांच के संबंध में राष्ट्रपति ट्रंप से पूछताछ करना चाहते हैं। सूचनाओं के अनुसार ट्रंप के वकीलों से पूछा गया है कि क्या यह पूछताछ लिखित रूप में होगी। नॉर्वे की प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग के साथ संयुक्त रूप से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रंप ने संकेत दिया कि ये पूछताछ संभव नहीं है।

ट्रंप ने कहा कि देखेंगे कि क्या होता है। मेरा कहना है कि, मैं देखूंगा कि क्या होगा। लेकिन जब कोई साठगांठ नहीं हुई है, जब किसी को किसी स्तर पर कोई साठगांठ नहीं मिली है तो, पूछताछ होने की भी संभावना नहीं है। उन्होंने इन आरोपों को चुनाव हारने वाले डेमोक्रेट्स का बहाना बताया। राष्ट्रपति ने अपने प्रचार अभियान और रूस के बीच किसी प्रकार के संबंध से इनकार किया।