आपने वैक्सीनेशन के लिए अगर Co-Win पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है तो मोबाइल पर हमेशा अलर्ट रहिए, कभी भी आपके मोबाइल पर मैसेज आ सकता है। आपका नंबर कब आएगा, यह पोर्टल से ही तय होगा। ऑटो जेनरेट सिस्टम पर काम करने वाले इस पोर्टल को इस तरह से ही बनाया गया है कि इसमें वैक्सीनेशन का लाभ पाने वाले का नंबर रैंडम ही आएगा। 16 जनवरी से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन के पहले चरण में हेल्थ वर्करों को रखा गया है और मैसेज भी रैंडमली उन्हीं लोगों को जाएगा। ऐसे में रजिस्टर्ड हेल्थ वर्करों को हमेशा अपने मोबाइल के मैसेज इनबॉक्स को चेक करते रहना होगा। अगर मोबाइल के मैसेज से चूक गए तो फिर इंतजार करना होगा, क्योंकि एक दिन में एक सेशन में मात्र 100 लोगों को ही वैक्सीन देनी है। जिसका रजिस्ट्रेशन नहीं है या फिर मोबाइल पर मैसेज नहीं आया है, उन्हें वैक्सीन नहीं दी जाएगी। ऐसे में रजिस्ट्रेशन कराने वालों को हमेशा अलर्ट रहते हुए अपने मोबाइल के इनबॉक्स पर नजर रखनी होगी।

16 को 16 सेंटर पर हेल्थ वर्करों का वैक्सीनेशन
16 जनवरी को पटना के 16 सेंटर पर वैक्सीनेशन का खाका पूरी तरह से तैयार कर लिया गया है। सिविल सर्जन कार्यालय में बुधवार को इसके लिए 16 सेंटरों के वैक्सीनेटरों के साथ टीम में शामिल सभी 5 कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण का काम अब प्रतिदिन चलेगा। जिला कोविड सेंटर में हर दिन लोगों को ट्रेनिंग दी जाएगी।

पटना को 5680 वायल अलॉट, 56800 के लिए वैक्सीन की डोज
पटना सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी का कहना है कि पटना जिले के लिए 5680 वायल वैक्सीन अलॉट की गई है। इसमें 56800 वैक्सीन की डोज रहेगी। वैक्सीनेशन के लिए पटना जिले को अब तक 9.10 लाख सिरिंज मिले हैं। गर्दनीबाग के जिला वैक्सीन स्टोर में वैक्सीन को रखा जाएगा और यहीं से इसकी सप्लाई सेंटर तक की जाएगी। बुधवार को पटना में सभी मशीनों को ऑपरेट कर दिया गया है। तकनीकी एक्सपर्ट की टीम इसकी मॉनिटरिंग करने में लगी है। मशीनों को इंस्टॉल करने के साथ इसके कोल्ड चेन को लेकर काम किया जा रहा है।

गर्दनीबाग में लग रहा ट्रेनिंग का टीका
गर्दनीबाग जिला स्वास्थ्य समिति कार्यालय में पहले दिन का वैक्सीनेशन करने वाले वैक्सीनेटरों को ट्रेनिंग का टीका लगाया जा रहा है। इसके लिए 16 सेंटरों की 16 टीमों के 80 कर्मचारियों को बुलाया गया है। प्रशिक्षण के दौरान उन्हें वैक्सीनेशन का डेमो कर बताया जा रहा है। यहां हर बारीकी को समझाया जा रहा है। प्रशिक्षण का टीका देकर उन्हें सेंटर पर भेजा जा रहा है। सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी का कहना है कि हर दिन प्रशिक्षण चलेगा, जिससे वैक्सीनेटरों की कमी नहीं होने पाए।

अगले चरण के लिए 938 सेंटरों को किया गया चिन्हित
सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी का कहना है कि 16 जनवरी को पटना में 16 सेंटर पर वैक्सीनेशन होगा और फिर इसे कुछ ही दिनों में बढ़ा दिया जाएगा। पटना के 938 सेंटरों का चयन वैक्सीनेशन के लिए किया गया है। इसमें ब्लॉक स्तर के सरकारी अस्पताल शामिल हैं। सिविल सर्जन का कहना है कि इस दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है।

जान लीजिए किस जिले में किस स्टोर से जाएगी वैक्सीन
राज्य में NMCH को प्रदेश वैक्सीन स्टोर बनाया गया है। यहां कंपनी से आने वाली वैक्सीन को रखा जाएगा और प्रदेश का सारा लेखा-जोखा यहीं पर रहेगा। इसके बाद प्रदेश में कुल 10 सेंटर बनाए गए हैं, जहां अन्य जिलों को वैक्सीन सप्लाई की जाएगी।

NMCH से पहले इन सेंटरों को जाएगी वैक्सीन

  • PHI पटना से 5 जिलों में वैक्सीन की सप्लाई
  • नालंदा से 4 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • सहरसा से 3 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • सारण से 3 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • औरंगाबाद से 5 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • भागलपुर से 5 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • पूर्णिया से 4 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • दरभंगा से 3 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • मुजफ्फरपुर से 4 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई
  • पूर्वी चंपारण से 2 जिलों को होगी वैक्सीन की सप्लाई

किस सब सेंटर से किस जिले में जाएगी वैक्सीन

  • PHI पटना : पटना, खगड़िया, भोजपुर, बक्सर, बेगूसराय
  • नालंदा : नालंदा, नवादा, जहानाबाद, शेखपुरा
  • सहरसा : सहरसा, सुपौल, मधेपुरा
  • सारण : सारण, सीवान, गोपालगंज
  • औरंगाबाद : औरंगाबाद, अरवल, रोहतास, कैमूर, गया
  • भागलपुर : भागलपुर, बांका, जमुई, मुंगेर, लखीसराय
  • पूर्णिया : पूर्णिया, अरवल, कटिहार, किशनगंज
  • दरभंगा : दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर
  • मुजफ्फरपुर : मुजफ्फरपुर, शिवहर, सीतामढ़ी, वैशाली
  • पूर्वी चंपारण : पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण