दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तीन दिन पूरे हो चुके हैं। इसके तहत देश में कुल 3.81 लाख लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, सोमवार को शाम 5 बजे तक 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 1,48,266 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। तीन दिनों में वैक्सीनेशन के बाद साइड इफेक्ट के 580 मामले रिपोर्ट किए गए है।

साइड इफेक्ट के बाद सिर्फ सात लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इनमें तीन दिल्ली, दो कर्नाटक और उत्तराखंड- छत्तीसगढ़ में एक-एक मामले मिले हैं। अब तक कोई गंभीर केस सामने नहीं आया है।

तीन दिन में इतने लोगों को लगी वैक्सीन

  • पहला दिन - 2,07,229
  • दूसरा दिन - 17,072
  • तीसरा दिन - 1,48,266

आज राज्यों में वैक्सीनेशन की स्थिति

कर्नाटक 36,888
पश्चिम बंगाल 11,588
तेलंगाना 10,352
बिहार 8,656
केरल 7,070
तमिलनाडु 7,628
मध्य प्रदेश 6,665
असम 1,822
दिल्ली 311

(सोमवार को 25 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में वैक्सीनेशन हुआ। सभी राज्यों का डेटा अभी नहीं आया है।)

केंद्र ने राज्यों के साथ मीटिंग की

इस बीच सरकार ने सोमवार को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ मीटिंग भी की और अभियान का रिव्यू किया। इस दौरान वैक्सीनेशन ड्राइव की प्रोग्रेस, आने वाली रुकावटों और उनमें सुधार के तरीकों पर विचार किया गया। हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, राज्यों को हफ्ते में 4 दिन ही वैक्सीनेशन करने को कहा गया है, ताकि रूटीन हेल्थ सर्विस में कोई बाधा न पहुंचे। कुछ राज्यों ने 4 दिनों का शेड्यूल भी जारी कर दिया है।

आंध्र में हफ्ते में 6 दिन वैक्सीनेशन
उन्होंने बताया कि आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा, हफ्ते में 6 दिन और मिजोरम में 5 दिन कोरोना का टीका लगाया जाएगा। वहीं गोवा, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में हफ्ते में दो दिन वैक्सीनेशन होगा।

इन राज्यों में 4 दिन वैक्सीनेशन
अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दादर और नगर हवेली, दमन और दीव, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल।

इन राज्यों में 3 दिन वैक्सीनेशन
अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड और ओडिशा।