जयपुर:प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढती जा रही है. राजस्थान में  25 दिन में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 45 पहुंच गई है. जबकि इस वायरस की चपेट में आने से 24 घंटे के अंदर ही भीलवाडा जिले में दो लोगों की मौत हो गई. भीलवाडा में दो नये पॉजिटिव केस आने से ​फिर हडकंप मच गया.भीलवाड़ा में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 21 पहुंच गई है. प्रदेश के भीलवाडा जिले में सबसे ज्यादा हालात खराब है,वहां पॉजिटिव केस ज्यादा सामने आये है.

प्रदेश में पहला मामला 2 मार्च को आया था सामने:
प्रदेश में कोरोना तेजी से पैर पसारता हुआ दिखाई दे रहा है. प्रदेश में 2 मार्च को जयपुर में पहला पॉजिटिव केस सामने आया था. इटली के इस यात्री की नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद इसकी मौत हो गई थी. नौ मार्च को विदेश से आया जयपुर के आदर्श नगर का बुजुर्ग भी पॉजिटिव पाया गया. शुरूआती तीनों केस जांच में नेगेटिव पाये गए. जबकि  एक की मौत हो गई. दो डिस्जार्च हो गए है.

कब कितने मामले आये सामने:
चलो अब बात करते है कोरोना के कितने मामले कब सामने आये, तो बता दें कि 14 मार्च को एक कोरोना वायरस का मामला सामने आया. 18 मार्च को तीन, 19 मार्च को तीन, 20-21 मार्च को 7-7 मामले सामने आये. 22-23 मार्च को 4-4 केस, जबकि 25 मार्च को 6 मामले सामने आये.  26 मार्च को पांच केस पॉजिटिव आए है.

भीलवाड़ा में दो लोगों की मौत:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में 24 घंटे के अंदर ही कोरोना वायरस की वजह से 2 लोगों की मौत हो गई. ये दोनों ही मरीज कोरोना पॉजिटिव थे, लेकिन मौत का कारण  पुरानी बीमारी बताया जा रहा है, जबकि भीलवाड़ा में 2 नये पॉजिटिव केस सामने आये है. भीलवाड़ा के हालत खराब है. क्योंकि सबसे ज्यादा मामले यहां से सामने आये है.

कंट्रोल में है राजस्थान 
केन्द्र और राज्य सरकार के लॉकडाउन के बाद राजस्थान में स्थिति कंट्रोल में है, क्योंकि लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है. जिसकी वजह से लोग घरों में ही है. सडकों पर नहीं निकलने की वजह से कोरोना की स्थिति कंट्रोल में है. 

स्थिति पर पूरी नजर
प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा, ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह पल पल की स्थिति पर नजर बनाए हुए. मुख्यमंत्री गहलोत शुक्रवार को फिर कलेक्टरों से वीसी के जरिए फीडबैक ले सकते है.