जयपुर: राजस्थान समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर आज चुनाव आयोग ने तारीखों की घोषणा कर दी है। इसके तहत राजस्थान में 7 दिसम्बर को वोटिंग और 11 दिसम्बर को मतगणना होगी। वहीं दूसरी ओर चुनाव आयोग द्वारा तारीखों का दिन एवं समय निर्धारण किए जाने को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने चुनाव आयोग की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े किए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि पहले सुनने में आ रहा था कि 5 अक्टूबर को राजस्थान में आचार संहिता लगाने की तैयारी थी, लेकिन पीएम मोदी के अजमेर दौरे के चलते चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव की तारीखें घोषित करने के लिए छह अक्टूबर का दिन निर्धारित कर दिया। बाद में मोदी की सभा को देखते हुए चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेस का समय साढ़े 12 बजे से बदलकर तीन बजे कर दिया।

गहलोत ने कहा कि हिमाचल और गुजरात चुनाव की तारीखों की घोषणा में भी चुनाव आयोग की भूमिका ऐसी ही रही थी। हिमाचल के लिए तो डेट की घोषणा कर दी गई थी, लेकिन गुजरात चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं हुई, जिससे कि पीएम को गुजरात में घोषणाओं के लिए वक्त मिल जाए।