नई दिल्ली, कांग्रेस ने लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने के प्रस्ताव का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि यह लोकतंत्र का अपमान होगा। कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में संवाददाताओं के सवाल पर कहा कि संसद और विधानसभाओं का तय कार्यकाल होता है। सरकार के विश्वास मत खोने या अप्रत्याशित स्थिति में ही बीच में चुनाव कराने का प्रावधान है। निर्वाचित लोकसभा और विधानसभाओं के कार्यकाल में कटौती नहीं की जा सकती।

‘एक देश ,एक चुनाव‘ को भारतीय जनता पार्टी का नया जुमला करार देते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2004 में तत्कालीन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने भी ‘इंडिया शाइनिंग’ के मुगालते में समय से पहले चुनाव कराया था और जनता ने उसे जवाब दे दिया था। समय से पहले चुनाव कराना मोदी सरकार के लिए भी ‘मुंगेरी लाल के हसीन सपने‘साबित होगा।