लखनऊ, उत्तर प्रदेश केे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य विधान परिषद की सदस्यता के लिये आगामी पांच सितम्बर को नामांकन दाखिल कर सकते हैं। योगी के साथ ही दोनों उपमुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य और डाॅ. दिनेश शर्मा, परिवहन राज्यमंत्री स्वतंत्र देव सिंह और अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री मोहसिन रजा भी उसी दिन नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

मुख्यमंत्री, दोनों उपमुख्यमंत्रियों और दोनों मंत्रियों को आगामी 19 सितम्बर से पहले विधानमंडल के दोनों सदनों में से किसी एक का सदस्य बनना जरुरी है। विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी सदस्यों की संख्या के अनुसार विधान परिषद के उपचुनाव में इनका चुना जाना तय है। जानकारों के मुताबिक इनका निर्वाचन निर्विरोध सम्भावित है। विधानसभा के प्रमुख सचिव और चुनाव के पीठासीन अधिकारी प्रदीप दुबे ने बताया कि इस चुनाव में विधानसभा के सदस्य मतदाता होते हैं। एक उम्मीदवार को जीतने के लिये कम से कम 28 मतों की आवश्यकता होगी।