नई दिल्ली. दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) मामले को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि हिंसा में हुए घायलों का मुफ्त इलाज कराएंगे. गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये देगी. उन्होंने कहा कि गंभीर रूप से घायलों को 2 लाख रुपये दिए जाएंगे.

केजरीवाल ने मुआवजे का ऐलान करते हुए कहा कि दिव्यांग हुए लोगों को 5 लाख, जिनका घर जला उन्हें 5 लाख और नाबालिग मृतकों के परिवार को 5 लाख का मुआवजा दिया जाएगा. उन्होंने रिक्शा नुकसान पर 25 हजार और हिंसा में अनाथ हुए बच्चों को 3 लाख रुपये देने का ऐलान किया. वहीं उन्होंने कहा कि दिल्ली के हालातों पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलेगी, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा फिर चाहे वो मेरी ही पार्टी से क्यों ना हो.

दिल्ली हिंसा में अब तक 34 लोगों की मौत
न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 34 तक पहुंच गई है. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोगों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील की. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने बुधवार को हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया. बुधवार को दिल्ली पुलिस ने बताया था कि हिंसा मामले में अब तक 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 18 एफआईआर दर्ज की गई है.

दिल्ली हिंसा मामले में हाईकोर्ट में 13 अप्रैल को होगी अगली सुनवाई
दिल्ली हिंसा मामले में गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार को भड़काऊ बयान को लेकर दाखिल याचिका पर विस्तृत जवाब दाखिल करने को कहा. 4 सप्ताह में गृह मंत्रालय को जवाब दायर करने का निर्देश दिया गया. इस मामले पर अगली सुनवाई 13 अप्रैल को होगी.