पुणे. कोरियोग्राफर सरोज खान ने सांगली में एककार्यक्रम  में बॉलीवुड में कास्टिंग काउच होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि यह काम नया नहीं है। यह सदियों से चला आ रहा है। फिल्म इंडस्ट्री में दुष्कर्म के बाद लड़कियों को छोड़ नहीं दिया जाता, बल्कि उन्हें काम और रोजी-रोटी भी दी जाती है। उधर, कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा - “ये हर जगह होता है और ये एक कड़वा सच है। ये मत सोचिए कि संसद या और काम करने की जगहों पर ऐसा नहीं होता। अब समय आ चुका है जब देश खड़ा हो कर कहे मी टू।"

- रेणुका चौधरी ने कहा, "कास्टिंग काउच हर जगह है, केवल फिल्म इंडस्ट्री में नहीं हर काम करने वाली जगह पर है। इस पर कानून लाने से कुछ नहीं होगा। हम भी कानून लाए थे। इसे लागू किया था। लेकिन कुछ नहीं हुआ। इसे अमल करने में दिक्कत होती है।"
- उन्होंने कहा, "सरोज खान ने कुछ विवादित नहीं कहा, उन्होंने वास्तविकता बताई है। केवल फिल्म इंडस्ट्री में नहीं ये हर जगह होता है। हर जगह महिलाओं के साथ कास्टिंग काउच होता है। ये मत सोचिए कि संसद या और काम करने की जगहें इसे अछूती हैं। अब समय आ चुका है जब भारत खड़ा हो कर कहे मी टू।"

- कास्टिंग काउच पर रणवीर सिंह ने कहा, “मुझे कभी इसका सामना नहीं करना पड़ा, लेकिन अगर ये होता है तो ये दुख की बात है।”

- सरोज खान सोमवार को सांगली में फ्यूजन डांस एकेडमी के एक दिन के डांस प्रशिक्षण शिविर में आई थीं। यहां उन्होंने कहा, "कास्टिंग काउच इंडस्ट्री के लिए नई बात नहीं है, बल्कि यह तो बाबा आदम के जमाने से होता चला आया है। हालांकि, इंडस्ट्री में दुष्कर्म के बाद लड़कियों को छोड़ नहीं दिया जाता, उन्हें काम और रोजी-रोटी भी दी जाती है।" 
- सरोज खान ने आरोप लगाया कि सरकारी महकमों में भी लड़कियों पर हाथ साफ किया जाता है।

 सरोज खान की टिप्पणी पर लोग सोशल मीडिया के जरिए नाराजगी जाहिर कर रहे हैं।
- एक यूजर ने लिखा, "अनपढ़ लेडी का जवाब और क्या होगा?" 
- वहीं, दूसरे यूजर ने लिखा, "जहां से हम सीखते हैं, देखो वहां के लोग क्या सोचते हैं।" 
- एक और शख्स ने लिखा, "कुछ लोग हर रोज नए तर्क दे रहे हैं, रेप क्यों सही है?" 
- सरोज खान के एक फैन ने लिखा, "मैं आपका फैन हूं, आपके लिए मेरे दिल में सम्मान है, लेकिन यह बयान शर्मनाक है।"

2 हजार से ज्यादा गानों को कर चुकी हैं कोरियोग्राफ
- सरोज खान 2000 से भी ज्यादा गानों को कोरियोग्राफ कर चुकीं हैं। उनका जन्म 22 नवंबर, 1948 को हुआ था। उनका असली नाम निर्मला नागपाल है। 
- पार्टिशन के बाद सरोज का परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था। महज 3 साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट सरोज ने करियर की शुरुआत फिल्म 'नजराना' से की थी।

- सरोज खान ने 13 साल की उम्र में इस्लाम कबूल कर 43 साल के डांस मास्टर बी सोहनलाल से शादी की थी। सरोज की उम्र से लगभग 30 साल बड़े सोहनलाल की यह दूसरी शादी थी। वे पहले ही चार बच्चों के पिता थे। 
- एक इंटरव्यू में सरोज ने बताया था कि 13 साल की उम्र में वे स्कूल जाया करती थीं और शादी के मायने नहीं जानती थी। एक दिन उनके डांस मास्टर सोहनलाल ने उनके गले में काला धागा बांध दिया था, ऐसा करने पर सरोज को लगा कि उनकी शादी हो गई।

हॉलीवुड एक्‍ट्रेस एलिसा मिलानो ने शुरू किया #MeToo अभियान
हॉलीवुड एक्‍ट्रेस एलिसा मिलानो के #MeToo अभियान के तहत दुनियाभर की महिलाओं को उनके साथ हुए यौन शोषण का खुलासा करने को कहा था। मिलानो ने 81 ऑस्कर जीत चुके फिल्ममेकर हार्वे वाइंस्टीन पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इस अभियान में हॉलीवुड और बॉलीवुड की कई सारी एक्ट्रेस ने अपने साथ हुईं इस तरह की घटनाओं को सबके साथ शेयर किया था।