चीन ने समुद्र पर दुनिया का सबसे बड़ा पुल बनाकर दुनिया को हैरान कर दिया है। 55 किमी का ये पुल दुनिया का सबसे लंबा समुद्री पुल है। पुल हांगकांग को चीन के दक्षिणी शहर झूहाई और मकाउ के गैमलिंग एनक्लेव से जोड़ेगा। इससे शहरों के बीच का फासला तीन घंटे से घटकर 30 मिनट रह गया है। नौ साल से बन रही इस पुल को बनाने में 4 लाख 20 हजार टन स्टील का इस्तेमाल हुआ है। इतनें में 60 एफिल टावर खड़े हो जाएंगे।

इसे बनाने में चीन सरकार के 16.8 बिलियन डॉलर (करीब 11 हजार करोड़ रुपए) खर्च हुए हैं। पुल निर्माण का सबसे कठिन हिस्सा 22.9 किमी लंबा और 6.7 किमी गुफा में सड़क का निर्माण था। इसमें एक अंडरवाटर टनल भी तैयार की गई है जिसे इस निर्माण कार्य का सबसे जटिल हिस्सा बताया गया है।

पुल में घुसने के लिए बदलना होगा साइड
दुनिया के इस सबसे लंबे पुल पर कोई भी पैदल नहीं चल सकता। वहीं चीन से जाने वाली कारों को हांग कांग में घुसने से पहले रोड में अपनी साइड बदलनी होगी। क्योंकि हांग कांग में भारत की तरह ट्रैफिक बायीं ओर चलता है।