राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल चीन दौरे पर हैं. यहां उन्होंने चीनी राजनयिक और पोलित ब्यूरो सदस्य यांग जेईची से मुलाकात की.

बता दें कि यांग ने हाल ही में कम्युनिस्ट पार्टी के नए सेंट्रल फॉरेन अफेयर्स कमीशन के निर्देशक के रूप में पदभार संभाला है. इसके बाद यह दोनों राजनयिकों की पहली बैठक है. इससे पहले, डोभाल के चीनी समकक्ष और स्टेट काउंसलर रहे यांग ने इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद उनकी जगह विदेश मंत्री वांग यी को दे दी गई थी.

चीन के उच्च विदेश नीति के निर्माता के साथ हुई डोभाल की बैठक में दोनों पड़ोसी देशों के बीच कई प्रमुख मुद्दों पर बातचीत हुई. दोनों देश पिछले साल हुए डोकलाम सीमा विवाद के बाद संबंधों को ट्रैक पर लाना चाहते थे.

भारत-चीन के बीच आर्थिक मुद्दों पर रणनीतिक वार्ता शनिवार को बीजिंग में आयोजित होगी. इसके लिए नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार भी चीन यात्रा पर जाएंगे.
बता दें कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी 'शंघाई सहयोग संगठन' की विभिन्न बैठकों में हिस्सा लेने के लिए 24 अप्रैल को बीजिंग यात्रा पर जाएंगी. दोनों मंत्री चीन सहित अन्य सदस्य देशों के अपने समकक्षों से भी सुरक्षा पहलुओं पर बातचीत करेंगी.

इसके बाद जून में होने वाले 'शंघाई सहयोग संगठन' के शिखर सम्मेलन में भारत सहित 8 देश शामिल होंगे. भारत की तरफ से शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जून में चीन यात्रा पर जाएंगे. शंघाई सहयोग संगठन में चीन, भारत, पाकिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज़्बेकिस्तान शामिल हैं. भारत और पाकिस्तान हाल ही में शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य बने हैं.