जालोर:प्रदेश में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के वापस मुख्यमंत्री बनने के बाद सरकार पूरी तरह एक्शन में नजर आ रही है। इतना ही नहीं जालोर दौरे के दौरान सीएम अशोक गहलोत ने जिले को बड़ी सौगाते दी, मांग करने पर शाम होते होते आदेश तक जारी हो गए।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत क्षेत्र के दौरे के साथ ही पूरी तरह एक्शन में नजर आये हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एकदिवसीय जालोर दौरे के दौरान जालोर को बड़ी सौगात दे दी, इतना ही नहीं मांग होने पर शाम होते होते आदेश तक जारी हो गए। पथमेड़ा गांव में उच्च प्राथमिक स्कूल होने से बालिकाओं को 15 किलोमीटर दूर हडेतर सरकारी स्कूल में पढ़ने जाना पड़ता था जिसको लेकर पिछले 5 सालों से पथमेड़ा गांव के ग्रामीण जन प्रतिनिधियों के चक्कर काटते काटते चंपल तक घीस गई लेकिन स्कूल क्रमोन्नत नहीं हो पाई। जैसे ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पथमेड़ा दौरा हुआ इस दौरान गांव के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर सरकारी स्कूल को उच्च प्राथमिक से माध्यमिक में क्रमोन्नत करने की मांग की जिस पर राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने भी बालिकाओं से जुड़ी समस्याओं को मुख्यमंत्री को अवगत कराया, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आदेश पर उसी दिन शाम होते होते माध्यमिक स्कूल में क्रमोन्नत के आदेश शिक्षा विभाग ने जारी कर दिए, पथमेड़ा के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई का आभार जताया। 

सांचौर में पिछले गहलोत सरकार के कार्यकाल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अंतिम वर्ष में सरकारी कॉलेज की सौगात दी लेकिन सरकार बदलने से सरकारी कॉलेज बंद हो गया जिससे कॉलेज में पढ़ने के लिए विद्यार्थियों को मोटी फीस निजी कॉलेजों में देनी पड़ रही थी। लंबे समय से सांचौर की जनता की मांग भी रही लेकिन सांचौर की जनता की मांग पूरी नहीं हो पाई मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सांचौर दौरे के दौरान राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने कॉलेज की मांग से अवगत करवाया जिस पर तत्काल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबोधन के दौरान सरकारी कॉलेज की बड़ी सौगात देते हुए अगले सत्र से सरकारी कॉलेज शुरू होने की घोषणा की। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के एक्शन को लेकर पूरे जिले में चर्चा है व भाजपा के नेता भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ऐसी कार्यशैली की प्रशंसा कर रहे हैं ।