नई दिल्ली, जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण की पूजा-अर्चना करने से मनुष्य पापों से मुक्त हो जाता है। कृष्ण भक्ति से ही ज्ञान और वैराग्य प्राप्त होता है और दुखों से मुक्ति भी मिलती है। जन्माष्टमी पर अपनी राशि के अनुसार भगवान कृष्ण के मंत्रों का जाप करें, ऐसा करने से आपको अश्वमेध यज्ञ करने के बराबर फल की प्राप्ति होगी। आइए आपको बताते हैं जन्माष्टमी पर राशिअनुसार किन मंत्रों का जाप करने से भगवान कृष्ण आसानी से प्रसन्न हो जाते हैं.....

मेष-

इस राशि के जातक श्री कृष्ण के मंत्र ॐ माधवाय नमः का जाप करें।

वृष-

इस राशि के जातक श्री कृष्ण के मंत्र ॐ गोहितो नमः मंत्र का जाप करें।

मिथुन-

इस राशि के जातक श्री कृष्ण को तुलसी अर्पित करें और ॐ वत्सलायः नमः मंत्र का जाप करें।

कर्क-

इस राशि के जातक श्री कृष्ण को सफेद गुलाब अर्पित करें और ॐ श्रीधर नमः का मंत्र का जाप करें।

सिंह-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के मंत्र ॐ विजितात्मा नमः का जाप करें।

कन्या-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के बाल स्वरूप का ध्यान कर ॐ सर्वदर्शी नमः मंत्र का जाप करें।

तुला-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण का ध्यान कर ॐ वासुदेवो नमः मंत्र का जाप करें।

वृश्चिक-

इस राशि के जातक वराह भगवान का ध्यान कर ॐ गंभीरात्मा नमः मंत्र का जाप करें।

धनु-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के गुरु रूप का ध्यान कर ॐ देवकीनंदनः नमः मंत्र का जाप करें।

मकर-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के सुदर्शनधारी स्वरूप का ध्यान कर ॐ भक्तवत्सलः नमः मंत्र का जाप करें।

कुंभ-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के दया रूप का ध्यान कर ॐ भक्तवत्सलः नमः मंत्र का जाप करें।

मीन-

इस राशि के जातक भगवान कृष्ण के नटखट रूप का ध्यान कर ॐ कृष्णाय नमः मंत्र का जाप करें।