चंडीगढ़:पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (Punjab Assembly Election 2020) में कांग्रेस, शिअद और आम आदमी पार्टी की मुश्किल बढ़ सकती हैं. शिअद से गठबंधन टूटने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि वह सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. भाजपा महासचिव तरुण चुग ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी ने 2022 में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में सभी 117 सीटों पर लड़ने की तैयारी युद्धस्तर पर शुरू कर दी है.

चुग ने कहा कि जमीनी स्तर पर भाजपा कार्यकर्ताओं को एकजुट करके राज्य के 23000 मतदान केंद्रों पर सांगठनिक ढांचा मजबूत किया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'भाजपा अध्यक्ष 19 नवंबर को पार्टी के दस जिला कार्यालयों का डिजिटल तरीके से उद्घाटन करेंगे तथा तैयारियों का जायजा लेने और पार्टी कार्यकताओं में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए जोश भरने के वास्ते राज्य की तीन दिन की यात्रा करेंगे.'

उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा की अगुवाई में पार्टी के नेता पंजाब में नरेंद्र मोदी सरकार की 160 लोक कल्याणकारी योजनाओं को लोकप्रिय बनायेंगे और राज्य में उन पर हुए काम से लोगों को अवगत करायेंगे.

भाजपा महासचिव ने कहा कि पार्टी ने पंजाब की सभी 117 विधानसभा सीटों पर लड़ने के लिए तैयारी युद्धस्तर पर शुरू हो गई है. करीब दो महीने पहले शिरोमणि अकाली दल ने केंद्र के कृषि कानूनों को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) छोड़ दिया था.

दोनों दलों के बीच सीटों की साझेदारी के फार्मूले के अनुसार भाजपा 13 संसदीय सीटों में से तीन पर और 117 विधानसभा क्षेत्रों में से 23 पर अपने उम्मीदवार उतारती थी. बाकी पर शिअद के उम्मीदवार होते थे.