लखनऊ, समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जो कहती है वह करती नहीं और जो करती है उसका पता ही नहीं चल पाता। यादव ने छात्रसंघ के पदाधिकारियों से मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से कहा कि भाजपा ध्यान भटकाने में माहिर है। ऐन मौके पर जनता का ध्यान भटका देती है और जब तक पता चलता है तबतक काफी देर हो जाती है। भाजपा अपने मंसूबे में कामयाब हो जाती है।

उन्होंने कहा कि गुजरात में विधानसभा चुनाव के दौरान वहां के किसान कपास के दामों को लेकर आंदोलित थे लेकिन उसी समय नीच शब्द को लेकर भाजपा ने तूफान मचा दिया। कपास के किसानों का मुद्दा पीछे छूट गया। नीच शब्द पर डिबेट होने लगी। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों का बड़ा मामला है लेकिन खबरों में आज छापे की कार्रवाई दिखायी जा रही है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादियों को सतर्क रहना होगा, क्योंक समाज में जाति और धर्म के नाम पर तोडऩे वाली शक्तियां घुस गयी हैं। ऐसी शक्तियों को जवाब देना होगा नहीं तो वे समाज और देश को तोड़ देंगी। उन्होंने कहा कि सपा को युवाओं की पार्टी कहा जाता है। तकनीक के प्रयोग में नई पीढ़ी आगे है। तकनीक मेें संतुलन बनाकर समाज से जुडऩा होगा।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में भाजपा राम,सीता,लक्ष्मण को ले आयी। सरकारी हेलीकाप्टर को पुष्पक विमान बना दिया। बाद में मोबाइल पर राम-सीता की तस्वीर कैसे चली यह सबको पता है। यादव ने कहा कि भाजपा ने विदेशी निवेश का हमेशा विरोध किया और अब वही लागू करने जा रहे हैं। भाजपा से पूछा जाना चाहिए कि उनके स्वदेशी आन्दोलन का क्या हुआ।