जयपुर, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री के गत चार दिनों से सीकर जिले के दौरे के दौरान हुई जनसुनवाई से आमजन को दूर रखे जाने की कड़े शब्दों में निंदा की है. पायलट ने एक बयान में कहा कि उपचुनाव की हार के बाद भाजपा सरकार ने जनता को भ्रमित करने के लिए जनसुनवाई का ढोंग शुरू कर दिया है परन्तु सच्चाई यह है कि जनसुनवाई में सिर्फ उन्हीं लोगों को शामिल किया जा रहा है जिन्हें संबंधित क्षेत्र के एसडीएम अथवा अन्य प्रशासनिक अधिकारी टोकन दे रहे है जिससे साफ पता चलता है कि जनसुनवाई के नाम पर जनता से भेदभाव करने के साथ ही आमजन को भ्रमित करने की कवायद जारी है.

उन्होंने कहा कि सरकार वास्तविकता में आमजन की किसी परेशानी का निदान नहीं कर रही है सिर्फ प्रदेश के लोगों को भ्रमित करने के लिए दिखावा किया जा रहा है. पायलट ने कहा कि इसके साथ ही जनता पर दबाव बनाने के लिए मुख्यमंत्री यहां तक कह रही है कि विरोध करने वालों को कुछ हासिल नहीं होगा जो जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों का खुला हनन है.