नई दिल्ली: कर्नाटक चुनाव में बीजेपी के सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरने के बाद देर शाम बीजेपी हेड क्वार्टर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बीजेपी शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. शाह ने कहा कि कर्नाटक में हमें पूर्ण बहुमत नहीं मिला तो कांग्रेस की बांछे खिल गई लेकिन कांग्रेस भूल रही है कि बीजेपी की पहली 40 सीटें थीं आज 104 सीटें हैं. अब कांग्रेस किसी भी तरह सत्ता पाना चाहती है. कर्नाटक का चुनाव लोकतंत्र में भरोसा रखने वालों के लिए एक संदेश है.

उन्होंने कहा, "आजादी के बाद कांग्रेस ने कर्नाटक का ये चुनाव सबसे अनैतिक तरीके से लड़ा है. मोदी जी ने कर्नाटक के कोने-कोने में जाकर जनता से सीधा संवाध स्थापित करने का सफल प्रयास किया है. मोदी सरकार ने गरीबों के लिए लोकतंत्र के मायने ही बदल दिए, मोदी सरकार ने बता दिया है कि वह सरकार कैसी होती है जो गरीबों केलिए सोचे गरीबों के लिए काम करे." 

शाह ने आगे कहा, "लगातार 15 जीतों की सीरीज हमने मोदी जी के नेतृत्व में पाई है. यह विजय रथ रुकने वाला नहीं है. आने वाले सभी चुनाव और 2019 में सरकार तो बनाएंगे ही इसके साथ मोदी जी कि विकास यात्रा के मध्यम से 2022 में न्यू इंडिया के विकास का काम भी मोदी सरकार करेगी. विकास के पंक्ति में खड़े हुए अंतिम व्यक्ति को सबसे पहले लाने का काम बीजेपी कर रही है.शाह ने हमला तेज करते हुए कहा, "कांग्रेस ने कर्नाटक में लोगों को बांटने के लिए जाति की राजनीति का इस्तेमाल किया और दलितों को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति कानून को लेकर भड़काने का प्रयास किया." 

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की उत्तम से उत्मम रणनीति के कारण बीजेपी लगातार जीत हासिल करती जा रही है. उन्होंने अपने संबोधन में वाराणसी में हुए फ्लाईओवर हादसे पर दुख प्रकट किया. उन्होंने कहा कि इस चुनाव ने उनके मन को भी बहुत प्रभावित किया. गैर हिंदी भाषी क्षेत्र में जाते समय मेरे मन में संकोच होता था कि वहां कैसे संवाद स्थापित किया जाएगा. लेकिन उन्होंने कहा कि कर्नाटक की जनता ने उन्हें इतना प्यार दिया कि भाषा की अज्ञानता उनके बीच में नहीं आईं. 

बता दें कि कर्नाटक में 12 मई 222 सीटों के लिए मतदान हुआ था. आज 15 मई को चुनावों के नतीजे घोषित किए गए. एग्जिक्ट पोल के अनुमान चुनावी नतीजों पर एकदम फिट बैठे और राज्य में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई. बीजेपी ने यहां 104 सीटों पर विजय हासिल की.