भीलवाड़ा:जिले के गंगापुर (Gangapur) इलाके में गुरुवार को एक अवैध खान ढह (Illegal mine collapsed) गई. खान ढहने वहां काम कर रहे 7 मजूदर उसमें दब गए. हादसे के बाद वहां अफरातफरी मच गई. मलबे में दबने से 2 मजदूरों की मौत (Death) हो गई, जबकि 3 को बाहर निकाल लिया गया है. 2 मजदूर अभी भी मलबे में दबे हुए बताए जा रहे हैं. उन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue operation) चल रहा है. घायलों को भीलवाड़ा लाया जा रहा है.

मौके पर भारी भीड़ जमा है.

गलोदिया गांव में शाम करीब साढ़े 5 बजे बाद हुआ हादसा जानकारी के अनुसार हादसा गंगापुर इलाके के गलोदिया गांव में शाम करीब साढ़े 5 बजे बाद हुआ. वहां कुछ मजदूर फ़ेल्सपार और क्वार्टज की एक अवैध खदान में कार्य रहे थे. इसी दौरान खदान का एक हिस्सा अचानक भरभराकर ढह गया. इससे खदान में काम कर रहे 7 मजदूर उसके मलबे में दब गए. हादसा होते ही वहां हड़कंप मच गया. सूचना पर पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंचा और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया. घायलों को इलाज के लिए भीलवाड़ा भेजा गया है

पुलिस प्रशासन ने क्रेन की सहायता से मलबा हटवाकर ग्रामीणों की सहायता से उसमें दबे 5 मजदूरों को बाहर निकाल लिया, लेकिन तब तक 2 मजदूरों की मौत हो चुकी थी. 3 गंभीर रूप से घायल हैं. 2 मजदूर अभी मलबे में दबे हुए हैं. पुलिस-प्रशासन की प्रारंभिक तफ्तीश में सामने आया है कि इस खान को कैलाश जाट और उदयलाल जाट चला रहे थे. यह खान अवैध है. खदान से निकाले गए घायलों को इलाज के लिए भीलवाड़ा भेजा गया है. मौके पर भारी भीड़ जमा होने के कारण उसे काबू करने में पुलिस-प्रशासन को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है. उल्लेखनीय है कि भीलवाड़ा जिले में बड़े पैमाने पर खदाने हैं. इसमें बहुत से खदानें अवैध रूप से संचालित हो रही हैं. वहीं कामकाज के दौरान सेफ्टी उपकरणों और सावधानियों की भी अनदेखी की जाती है.