जयपुर: अनुसूचित जाति/जन जाति को लेकर आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में सोमवार (2 अप्रैल ) भारत बंद का राजस्थान में व्यापक असर रहा, बस और ट्रेन संचालन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है, पुलिस सूत्रों के अनुसार जयपुर, अजमेर, बाडमेर, जोधपुर, श्रीगंगानगर, उदयपुर, सीकर में बंद समर्थकों और पुलिस में हल्की झड़प हुई, जयपुर में टोंक रोड पर बंद समर्थकों ने कुछ वाहनों के शीशे तोड़ दिये और दुकानों में तोड़फोड़ की और गांधी नगर रेलवे स्टेशन पर मालगाडी को रोकने की सूचना है,

बंद समर्थकों ने अजमेर में भी दुकानें बंद करवाने को लेकर तोड़फोड़ की और वाहनों को नुकसान पहुंचाया, जयपुर, अलवर, कोटा, बीकानेर, दौसा, अजमेर, सीकर संहित कई स्थानों पर बंद समर्थकों ने दुकानें एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान जबरन बंद करवाये, दुकानदारों और बंद समर्थकों में झड़प भी हुई,

जयपुर मेट्रो का संचालन मध्याह्न तक के लिए रोक दिया गया है, राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम और उत्तर पश्चिम रेलवे प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश में बंद के कारण बस और रेल संचालन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है, रोडवेज के अनुसार सुबह ग्यारह बजे के बाद बसों का संचालन रोक दिया गया ,  उन्होंने कहा कि स्थिति की समीक्षा करने के बाद बसों का संचालन पुन: शुरू करने पर निर्णय लिया जाएगा, उत्तर पश्चिम रेलवे प्रवक्ता तरूण जैन के अनुसार भारत बंद समर्थकों द्वारा रेल मार्ग रोक देने के कारण कई ट्रेनें अलग अलग स्थानों पर हालात सामान्य होने की प्रतीक्षा में खड़ी है, जबकि कई रेल सेवाओं को आंशिक रूप से रद कर दी गई है,

उन्होंने बताया कि नई दिल्ली-अजमेर शताब्दी एक्सप्रेस, भिवानी-अलवर सवारी गाडी, इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस, सूरतगढ-जयपुर सवारी गाडी, दिल्ली-पोरबंदर एक्सप्रेस, बान्द्रा टर्मिनस-दिल्ली सराय गरीब रथ एक्सप्रेस और अहमदाबाद-श्रीवैष्णोदेवी कटरा एक्सप्रेस प्रभावित हुई है, प्रवक्ता ने बताया कि जयपुर-हिसार रेल सेवा अलवर-हिसार के मध्य, हिसार-जयपुर रेलसेवा हिसार-अलवर के मध्य, भिवानी-अलवर रेलसेवा खैरथल-अलवर के मध्य, मथुरा-भिवानी के बीच आज रद रहेगी,

प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने प्रदेश में कई स्थानों पर हिंसक वारदाते होने की पुष्टि करते हुए लोगों से शान्ति बनाए रखने की अपील की है, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक :कानून व्यवस्था: एन आर के रेड्डी ने बताया कि उग्र बंद समर्थकों ने प्रदेश के कई स्थानों पर कई वाहनों में तोड़फोड़ की और आग के हवाले कर दिया, हालांकि, स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है , 

स्थिति से निपटने के लिये राज्य में 25—30 अतिरिक्त सुरक्षा बल की कंपनियों की तैनाती की गई है, उन्होंने बताया कि जालौर, बाड़मेर और आहौर में धारा 144 लागू की गई है ,  बाड़मेर में दलित प्रदर्शनकारी चार कारों में आगजनी के बाद जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है, बाड़मेर जिला कलेक्टर नकाते शिवप्रसाद मदान ने बताया कि स्थिति अब पूरी तरह नियंत्रण में है और ऐहतियात के तौर पर निषेधाज्ञा लगा दी गयी है,