ब्यावर:बुधवार सुबह एसीबी ने कार्रवाई करते हुए ब्यावर नगर परिषद सभापति बबीता चौहान को 2.50 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा। इसके साथ उसके पति नरेंद्र चौहान और एक अन्य व्यक्ति शिवप्रसाद को भी गिरफ्तार किया गया है। एसीबी से मिली जानकारी अनुसार महिला अधिकारी ने किसी प्लॉट भू रूपांतरण के लिए 2.5 लाख की रिश्वत मांगी थी। फिलहाल सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। ये कार्रवाई एसपी कैलाश चंद्र विश्नोई के निर्देशन में की गई।

एसीबी से मिली जानकारी अनुसार परिवादी डॉ राजीव जैन ने बबीता चौहान के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया गया था कि ब्यावर में 240 गज के एक आवासीय प्लॉट को व्यवसायक रुपांतरण कराने के लिए परिवादी द्वारा प्राथना पत्र प्रस्तुत किया था। जिसके करीब आठ-दस दिन बाद एक बाबू ने परिवादी को बताया कि भू रूपांतरण के लिए नगर परिषद सभापति ने 3.5 लाख रुपए मांगे हैं। वहीं सरकारी शुल्क अलग से जमा होगा।
जिसके बाद परिवादी सभापति से मिलने उसके घर पहुंचा। जहां उससे 2.25 लाख रुपए बतौर रिश्वत मांगे गए। साथ ही पैसे चार-पांच दिन में देने की बात भी कही गई। जिसके तहत कार्रवाई करते एसीबी ने 2.25 लाख रुपए लेते हुए तीनों को गिरफ्तार किया गया।

घर और बैंक अकाउंट की हो रही जांच

कार्रवाई के दौरान एसीबी की टीम ने बबीता चौहान के ऑफिस के साथ-साथ घर की भी तलाशी ली। अलमारी से लेकर लॉकर तक सभी जगह खंगाली गईं। वहीं बैंक अकाउंट की भी जांच की जा रही है। एसीबी की टीम को बबीता चौहान से एक दूसरे मामले में भी पूछताछ की जा रही है।