बाड़मेर:सरहदी बाड़मेर जिले के शिव थाना इलाके में नाबालिग बच्‍ची से गैंगरेप (Gang Rape) की घटना लगातार तूल पकड़ती जा रही है. इस घटना को लेकर सियासत (Politics) भी गरमाती जा रही है. इस मामले पर सरकार को घिरते देखकर एक दिन पहले जहां राज्य सरकार के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे. वहीं, अब बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) और राज्य बाल अधिकार सरंक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल भी पीड़ित परिवार के पास पहुंचे हैं. मामले में सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं की आवाजाही से पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूले हुए हैं.
राज्य बाल अधिकार सरंक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल गुरुवार को बाड़मेर पहुंचीं. बेनीवाल ने जिला अस्पताल पहुंचकर पीएमओ डॉ. बीएल मंसूरिया से पीड़िता के स्वास्थ्य की जानकारी ली और परिजनों को आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करवाने का भरोसा दिलवाया. उन्‍होंने कहा कि पीड़ित परिवार से मुलाकात करने के साथ पीड़िता से भी मिली हूं. जिला कलेक्टर और एसपी से पूरे घटनाक्रम की तथ्यात्मक रिपोर्ट लेकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. बाल आयोग की अध्यक्ष के अनुसार इस मामले में एसपी से भी बात की है. पीड़िता के 164 के बयान करवाये जाने की कार्रवाई की जा रही है.

पूनिया ने किये सरकार पर तीखे प्रहार
बेनीवाल के बाद बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया बाड़मेर पहुंचे. उन्होंने भी अस्पताल में भर्ती गैंगरेप पीड़िता और उसके परिवार से मुलाकात की. पूनिया के साथ बीजेपी नेता प्रसन्नाचंद्र मेहता, केके बिश्नोई, सिवाना विधायक हमीर सिंह भायल, नारायण सिंह और लोकेश जोशी ने पीड़िता के परिवार से पूरे घटनाक्रम को लेकर जानकारी ली. इस मौके पर पूनिया ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर तीखे प्रहार किए. वहीं, पीड़ित परिवार ने मांग की है उसे सरकारी नौकरी और दोषियों को फांसी की सजा दिलावायी जाए.