बांसवाड़ा. मेवाड़ के सपूत वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप (Maharana Pratap) पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में सोमवार को बांसवाड़ा कोतवाली थाने में राजस्थान पुलिस के सेवा अधिकारी प्रवीण सुंडा (RPS Praveen Sunda) समेत तीन लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया गया है. सूंडा समेत तीनों लोगों पर सोशल मीडिया में महाराणा प्रताप सहित भील और चारण समाज पर ओछी टिप्पणियां (Indecent remarks) करने का आरोप है. वहीं इस मामले में जयपुर के विद्याधर नगर से बीजेपी के विधायक नरपत सिंह राजवी ने भी सीएम अशोक गहलोत को चि‌ट्ठी लिखकर पुलिस अधिकारी पर कार्रवाई करने की मांग की है.

सुंडा समेत इन तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है
कोतवाली पुलिस में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार लोहारिया निवासी देवेन्द्र सिंह ने इस संबंध में राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी प्रवीण सुंडा और प्रेमाराम सिहाग तथा चौधरी सुरेश राव के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. दर्ज मामले में कहा गया है कि तीनों ने सोशल मीडिया पर महाराणा प्रताप को लेकर ओछी टिप्पणियां की है. इन टिप्पणियों से सामाजिक सोहार्द्र बिगाड़ने और धार्मिक भावनाएं आहत की गई है. इन टिप्पणियों में महाराणा प्रताप के व्यक्तित्व पर छींटाकशी करने के आरोप है. सिंह की शिकायत के आधार पर पुलिस ने तीनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-ए और 505 में मामला दर्ज किया है. मामले की जांच पुलिस उप निरीक्षक गौतमलाल को सौंपी गई है.

9 मई को थी महाराणा प्रताप की 480वीं जयंती

दूसरी तरफ विद्याधर नगर से विधायक नरपत सिंह राजवी ने भी सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिख कर महाराणा प्रताप, आदिवासी समाज एवं चारण समाज पर अशोभनीय एवं अमर्यादित टिप्पणी करने वाले पुलिस अधिकारी के खिलाफ राजस्थान सिविल सेवा आचरण नियम 1971 एवं भारतीय दंड संहिता के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग की है. उल्लेखनीय है कि 9 मई को ही महाराणा प्रताप की 480वीं जयंती थी. महाराणा प्रताप की जयंती पर प्रदेशभर में कई आयोजन होते हैं, लेकिन इस बार लॉकडाउन के चलते आमजन ने सोशल मीडिया पर ही महान योद्धा को नमन किया.