बैंकॉक: एक करोड़ से ज्यादा आबादी वाला यह शहर हर साल समुद्र में दो सेमी डूब रहा है। पर्यावरण पर नजर रखने वाले ग्रीनपीस संगठन के मुताबिक, थाईलैंड की खाड़ी में जलस्तर सालाना चार मिमी की दर से बढ़ रहा है। यह वैश्विक औसत से ज्यादा है। 2011 में आई बाढ़ से बैंकॉक में काफी नुकसान हुआ था। यहां बाढ़ के खतरे और शहर को डूबने से बचाने के लिए बाढ़ निरोधक पार्क बनाए जा रहे हैं। इनमें जमीन के नीचे ऐसे कंटेनर और बड़े तालाब बनाने की योजना है जहां लाखों गैलन पानी जमा हो सकेगा।

एक पार्क तैयार
थाईलैंड की राजधानी अभी समुद्र तल से महज पांच मीटर ही ऊपर है। बाढ़ रोकने के लिए शहर के बीच में स्थित चुलालोंगकोर्न यूनिवर्सिटी में 11 एकड़ इलाके में सेंटेनरी पार्क बनाया जा रहा है। इसमें पेड़ों और घास के नीचे बड़ा तालाब बनाया गया है, जिसमें पानी इकट्ठा किया जा सके।

पार्क की आर्किटेक्ट कोचाकोर्न वोराखोम बताती हैं- जब मैं युवा थी तो मुझे बाढ़ अच्छी लगती थी। मैं अपनी छोटी नाव को सड़कों पर लेकर निकल पड़ती थी। लेकिन 2011 ने हम सभी को डरा दिया। हमने कभी नहीं सोचा था कि बचपन का मजा त्रासदी में बदल जाएगा।

शोध के मुताबिक- सामान्य स्थितियों में पेड़ पानी नहीं सोखते। गर्मियों में जमीन तेजी से पानी सोखती है। लेकिन जब भयंकर बाढ़ आती है तो जमीन पानी नहीं सोखती। ऐसे में उसे किसी कंटेनर में इकट्ठा किया जा सकता है और बाढ़ के बाद पानी को सीवेज में छोड़ा जा सकता है। 

वोराखोम की फर्म लैंडप्रोसेस बैंकॉक की थमासात यूनिवर्सिटी में 36 एकड़ का पानी सोखने वाला पार्क अगले साल तक तैयार कर देगी। इस पार्क में सेंटेनरी पार्क जैसा पानी सोखने का सिस्टम तैयार किया गया है।

एक व्यक्ति के पास 55 वर्गफीट हरी जगह
सेंटेनरी पार्क को बैंकॉक के लोग भी काफी पसंद कर रहे हैं। ग्रीन सिटी इंडेक्स के मुताबिक- बैंकॉक के हर इंसान के हिस्से में महज 55 वर्गफीट की हरी जगह है। जबकि लंदन में यह आंकड़ा 290 वर्गफीट/व्यक्ति और सिंगापुर में 710 वर्गफीट/व्यक्ति है।

बैंकॉक की रैंगसित यूनिवर्सिटी में सेंटर ऑन क्लाइमेट चेंज एंड डिजास्टर के निदेशक डॉ. सेरी सुप्तारथित ने बताया- पिछले 20 साल में शहर के ग्रीन स्पेस में 10% की गिरावट आई है। लिहाजा बाढ़ का खतरा बढ़ा है।

वोराखोम के मुताबिक- जहां सेंटेनरी पार्क बनाया गया है, वहां डेल्टा की जमीन थी और रिहायशी बिल्डिंग बनाने की योजना थी। लेकिन ऐसा नहीं होने दिया गया। पिछले साल छह घंटे हुई बारिश से सड़कों पर बाढ़ आ गई, लेकिन पार्क में पानी नहीं भरा।

थाईलैंड के पूर्व राजा ने प्रोजेक्ट को हरी झंडी दी थी
वोराखोम के प्रोजेक्ट को थाईलैंड के पूर्व राजा भूमिबोल अदुल्यादेज ने हरी झंडी दिखाई थी। अदुल्यादेज ने ही थाईलैंड के कृषि मंत्रालय को बाढ़ रोकने के लिए वोराखोम के प्रोजेक्ट पर अमल करने को कहा था। अदुल्यादेज का 2016 में निधन हो गया था।

वोराखोम कहती हैं- बाढ़ निरोधक पार्क बनाना डूबते शहर को बचाने के लिए बेहद छोटा प्रयास है। इसके लिए पूरे समाज को आगे आना होगा। हमें दिखाना होगा कि अगले 100 में कितना कायापलट कर सकते हैं। बैंकॉक के शहरी प्रशासन ने भी बाढ़ रोकने के प्रयासों पर काम करना शुरू कर दिया है। प्रशासन ने बाढ़ रोकने वाले प्रोजेक्ट के लिए 26 अरब बहत (करीब 5900 करोड़ रुपए) खर्च करने का ऐलान किया है।