श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर में सीमावर्ती कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्टर में शुक्रवार शाम हुए हिमस्खलन में 8 लोगों के मरने की आशंका है और 2 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। आपदा प्रबंधन, राहत, पुनर्वास एवं पुनर्निर्माण मंत्री जावेद मुस्तफा मीर ने खराब मौसम के मद्देनजर संवेदनशील मार्गों पर यातायात पर पाबंदी लगा दी है। कुपवाड़ा से एक पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को फोन पर बताया कि भारी हिमपात और खराब श्यता के बावजूद पुलिस और सेना की मदद से राहत एवं बचाव कार्य जारी है।

रिपोर्ट के अनुसार छह वर्षीय बच्चे और वाहन के चालक को सुरक्षित निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि यह हिमस्खलन कुपवाड़ा में साधना टॉप के पास खोनी नाला में दोपहर सवा तीन बजे और साढे तीन बजे के बीच हुआ। अचानक हुए इस हिमस्खलन के कारण एक वाहन में सवार सात से आठ लोग और दो राहगीर खाई में गिर गए। यह वाहन कुपवाड़ा से कारनाह जा रहा था, तभी यह हादसा हुआ। अधिकारी ने बताया कि लापता लोगों की तलाश के लिए राज्य पुलिस और सेना के जवान बचाव एवं तलाश अभियान में जुट गये हैं।

उन्होंने कहा कि खाई में गिरे लोगों के जीवित बचने की उम्मीद बहुत कम है। उन्होंने बताया कि अंधेरा घिरने और हिमपात के कारण बचाव अभियान में दिक्कतें आ रही हैं। इस बीच मीर ने कश्मीर के संभागीय आयुक्त बशाीर अहमद खान को सेना पुलिस एवं राज्य आपदा मोचन बल के संयुक्त बचाव अभियान की निगरानी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने दो घायलों को समुचित चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के भी निर्देश दिए। गौरतलब है कि अहमद ने हाल ही में उत्तरी और मध्य कश्मीर में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की थी।