दुबई: एशिया कप में मंगलवार को भारत और अफगानिस्तान का मैच टाई हो गया। वनडे में चार साल बाद भारत का कोई मैच टाई हुआ। पिछली बार 2014 में न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड में ऐसा हुआ था। वहीं, अफगानिस्तान का यह पहला टाई मैच है। 253 रन के लक्ष्य के सामने टीम इंडिया 49.5 ओवर में 10 विकेट पर 252 रन ही बना सकी। आखिरी ओवर में भारत को 7 रन बनाने थे, लेकिन छह रन ही बना सका। रविंद्र जडेजा (25 रन) के रूप में आखिरी विकेट गिरा। इससे पहले अफगानिस्तान के मोहम्मद शहजाद ने 124 रन बनाए। यह उनके करियर का पांचवां शतक है। उनकी पारी की बदौलत अफगान टीम ने 8 विकेट पर 252 रन बनाए।

कप्तान के तौर पर धोनी के 200 वनडे पूरे: इस मैच में भारतीय टीम की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी की। उन्होंने दो साल बाद वनडे टीम की कप्तानी की।

धोनी 200 वनडे में कप्तानी करने वाले दुनिया के तीसरे क्रिकेटर बने। उनसे पहले ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (230 मैच) और न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग (218) ने यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। पिछली बार धोनी ने 29 सितंबर 2007 को पहली बार टीम इंडिया की कमान संभाली थी। उन्होंने 29 अक्टूबर 2016 को विशाखापत्तनम में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी बार भारतीय टीम का नेतृत्व किया था।

शहजाद-जावेद ने दी मजबूत शुरुआत: अफगानिस्तान को ओपनर शहजाद और जावेद अहमदी ने मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 12.4 ओवर में 65 रन जोड़े। इसमें जावेद के सिर्फ 5 रन थे। इसके बाद 82 के स्कोर तक अफगान टीम के चार बल्लेबाज पवेलियन लौट गए। शहजाद ने पांचवें विकेट लिए गुलबदीन नईब (15 रन) के साथ अर्घशतकीय साझेदारी की।

शहजाद के 2500 रन पूरे: शहजान ने शतकीय पारी के दौरान अपने वनडे करियर में 2500 रन पूरे किए। ऐसा करने वाले वे अफगानिस्तान के पहले खिलाड़ी हैं। वे टीम की ओर से सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ी भी हैं। उन्होंने 13 अर्धशतक भी लगाए हैं।

नबी का अर्धशतक: सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए मोहम्मद नबी ने 64 रन की पारी खेली। उन्होंने अपने करियर का 11वां अर्धशतक लगाया। नबी ने सातवें विकेट के लिए नजीबुल्लाह जादरान के साथ 46 रन की साझेदारी की। भारत के लिए रविंद्र जडेजा ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए।

राहुल-रायुडू ने की शतकीय साझेदारी: लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की ठोस शुरुआत हुई। टूर्नामेंट में अपना पहला मैच खेल रहे लोकेश राहुल ने अंबाती रायुडू के साथ पहले विकेट के लिए 110 रन की साझेदारी की। रायुडू ने 57 और राहुल ने 60 रन बनाए। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए धोनी 8 रन ही बना सके। वहीं, 10 महीने बाद वनडे खेल रहे मनीष पांडे भी आठ रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

धोनी के आउट होने पर भड़के फैन्स: धोनी बल्ले से फ्लॉप रहे। उन्हें आठ रन के निजी स्कोर पर ऑफ स्पिनर जावेद अहमदी ने एलबीडबल्यू आउट कर दिया, लेकिन गेंद लेग स्टंप के बाहर जा रही थी। भारत का एकमात्र रिव्यू राहुल ने खराब कर दिया था। 21वें ओवर में राशिद खान की गेंद पर राहुल ने रिव्यू मांगी, लेकिन तीसरे अंपायर ने उसे खारिज कर दिया था। धोनी के आउट होने के बाद क्रिकेट फैंस ने सोशल मीडिया पर अंपायर और राहुल के खिलाफ कई पोस्ट किए।

भारत ने किए पांच बदलाव: भारतीय फाइनल में पहुंच गई है। टीम प्रबंधन ने रोहित शर्मा, शिखर धवन, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया। उनकी जगह केएल राहुल, मनीष पांडे, दीपक चहर, सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद को शामिल किया।

दीपक चहर का वनडे डेब्यू: इस मैच से दीपक चहर ने अपने अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट करियर की शुरुआत की। मैच से पहले धोनी ने उन्हें ब्लू कैप पहनाई। सात अगस्त 1992 को आगरा में जन्में दीपक ने इससे पहले महज एक अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच खेला था।