नई दिल्ली, आशीष नेहरा भारत के लिए 18 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं। उन्होंने ने 1999 में अजहरुद्दीन की कप्तानी में डैब्यू किया था। नेहरा ने 17 टेस्ट, 120 वनडे और 26 टी-20 खेले हैं। टेस्ट में 44, वनडे में 157 और टी-20 में 34 विकेट झटके। भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का मन बना लिया है। न्यूज़ीलैंड के साथ होने वाली तीन टी-20 सीरीज का पहला मैच उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का आखिरी मुकाबला होगा।

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पहला टी-20 मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में हैं, जो नेहरा का घरेलू मैदान भी है। नेहरा को 2003 वर्ल्ड कप में डरबन में इंग्लैंड के खिलाफ मैच में 23 रन देकर 6 विकेट चटकाने के लिए याद किया जाता है। वे बीमार होने के बावजूद इस मैच में खेले थे और शानदार प्रदर्शन किया था। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए नेहरा को टीम में चुना गया था। लेकिन उन्हें पहले दो मैचों के लिए प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। नेहरा के IPL के अगले सीजन में हिस्सा लेने की संभावना कम है। आशीष नेहरा 2011 में वर्ल्ड कप चैंपियन टीम का हिस्सा थे। लेकिन अंगुली में फ्रेक्चर के कारण  नेहरा फाइनल नहीं खेल सके थे।