उत्तर प्रदेश:  उसके हिसाब से जैसे वो थी वैसे सब होंगे लेकिन असल में ये उसकी गलतफहमी थी जो उसका जीवन तबाह कर के मानी,माता-पिता ,समाज और कईयों की बातों को ठुकरा कर उसने फारुख को अपना साथ चुन लिया जिसने उसको पूरा विश्वास दिलाया की उसका मन पवित्र और साफ़ है, उसने ये भी बताया की प्यार का मत और मज़हब खोजने वाले लोग जूठ बोलते हैं और वो सही है बाक़ी तमाम लोग गलत .. और उसने फारुख पर विश्वास कर लिया बाकी तमाम पर अविश्वास करने के बाद.

उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में छह माह पूर्व एक युवक ने 22 साल की एक युवती को प्रेमजाल में फंसाकर उसका अपहरण कर लिया और पांच माह तक उसका शारीरिक शोषण करने के बाद एक अन्य युवक को चालीस हजार रुपये में बेचकर जिस्मफरोशी के गोरखधंधे में धकेलने की कोशिश की।

पुलिस ने झांसी जिले के मऊरानीपुर कस्बे में दबिश देकर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में आसानी से लड़कियों को फंसा कर उनकी जिंदगी तबाह करने के उन तमाम दावों पर मुहर लग रही है ,

इस मामले में मोहबा के पुलिस अधीक्षक एन. कोलांची ने बताया कि छह माह पूर्व युवती के परिजनों ने फारूक के खिलाफ आईपीसी की धारा-363 (अपहरण) का मुकदमा दर्ज कराया था। अब लड़की बरामद हो गई है, जो तथ्य सामने आएंगे, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।