कठुआ: जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारी बारिश के बाद पैदा हुई बाढ़ जैसी स्थिति में फंसे 29 लोगों को सोमवार को सुरक्षित बचा लिया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर को सभी मौसमों में देश के विभिन्न हिस्से से जोड़ने वाला जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग कई जगहों पर हुई भूस्खलन की घटना के बाद बंद हो गया था, जिस पर सोमवार को यातायात बहाल कर दिया गया.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “ छह महिलाओं और 10 बच्चे समेत 29 लोगों को कठुआ जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से रात में चलाए गए अभियान के दौरान सुरक्षित बाहर निकाला गया.' अधिकारियों ने बताया कि पुलिसकर्मियों और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल के कर्मियों ने इन लोगों को जिले के नागरी, चाब्बे चाक, जाखोले और बिलावार क्षेत्र से सुरक्षित बाहर निकाला. मवेशियों को भी सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया. उन्होंने बताया कि लगातार बारिश के बाद कठुआ जिले के कई नदियों में आई बाढ़ की वजह से बचाव एवं पुलिस दल को विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया.

अधिकारियों ने बताया कि पिछले दो दिन से हो रही बारिश के मद्देनज़र डोडा जिले में अधिकारियों ने एहतियाती कदम उठाते हुए सभी शैक्षणिक स्थानों को बंद रखने के आदेश दिए हैं और जम्मू क्षेत्र में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किए हैं. उन्होंने बताया, 'बाढ़ की वजह से पैदा हुई किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पुलिस हाई अलर्ट पर है. संवेदनशील स्थानों पर पुलिस दल तैनात किए जाने के साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है.أ

मौसम में सुधार होने के बाद अधिकारियों ने सोमवार की सुबह यातायात के लिए 270 किलोमीटर लंबा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग खोल दिया. यातायात विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया, 'रविवार देर रात तक सड़क गाड़ियों के आने जाने लायक बना दी गई और सोमवार को सुबह से हल्के मोटर वाहनों को इस मार्ग से गुजरने की अनुमति दे दी गई.'

इस राजमार्ग से लगे रामबन और उधमपुर जिलों के विभिन्न स्थानों पर हुए भूस्खलन की घटना से रविवार की सुबह राजमार्ग पर यातायात रोकना पड़ा. उन्होंने बताया कि इस राजमार्ग पर फंसी गाड़ियों को आगे जाने इजाजत दे दी गई.

अधिकारियों ने बताया कि डोडा जिले में प्रशासन ने नीरू नदी और अन्य विभिन्न छोटी नदियों में बाढ़ आने के बाद सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने की घोषणा की है. स्थानीय प्रशासन ने लोगों को घरों में ही रहने को कहा है. मौसम विभाग ने शनिवार को जम्मू क्षेत्र में अगले 48 घंटे तक गरज के साथ सामान्य से भारी बारिश की आशंका जताई थी.