जयपुर: प्रदेशभर में मौसमी बीमारियों का प्रकोप और राजधानी जयपुर में जीका वायरस की दस्तक के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट मोड में आ गया है। चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने आज मौसमी बीमारियों की समीक्षा बैठक के बाद सभी चिकित्साकर्मियों के अवकाश निरस्त कर दिए।

इसके साथ ही निर्देश दिए हैं कि मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, स्क्रब टाइफस, ज़ीका वायरस समेत सभी मौसमी बीमारियों की रोकथाम के पुख्ता प्रयास किए जाए। शिफू संस्थान में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में एसीएस मेडिकल वीनू गुप्ता ने भी जिलेवार बीमारियों के बढ़ते ग्राफ की समीक्षा की और व्यापक स्तर पर स्क्रीनिंग के निर्देश दिए।

राजधानी में जीवा वायरस के मरीज की पुष्टि को लेकर भी अधिकारी चिंतित नजर आए। एसीएस वीनू गुप्ता ने बैठक में निर्देश दिए कि जयपुर में रोजाना 500 घरों में डोर टू डोर सर्वे किया जाए। इस दौरान कोई भी मरीज मिले तो उसकी सूचना विभाग को दी जाए। बैठक में नगर निगम अधिकारियों को मच्छरों की रोकथाम के लिए इंटिलरवा गतिविधिया आयोजित करने के निर्देश भी दिए गए।