नई दिल्ली:आगरा में कारोबारी के बेटे का अपहरण कर किडनैपर्स ने 50 लाख की फिरौती मांगी है.रकाबगंज इलाके में गुरुवार (5 जुलाई) को कारोबारी अनिल जैन के बेटे के अपहरण का मामला सामने आया जिसके बाद पुलिस ने गुत्थी को सुलझाने की कोशिश की.पुलिस के किडनैपर्स तक पहुंचने से पहले उन्होंने इशांत के परिजनों को फोन कर 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी.

दो दिन बाद दी पुलिस को सूचना
जानकारी के मुताबिक जब कारोबारी का बेटा दो दिन तक घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने 7 जुलाई को पुलिस को बेटे के अपहरण की सूचना दी.केस की छानबीन में जुटी पुलिस को चार दिन बाद वो कार मिली जिस कार से बेटा गायब हुआ था.

व्हाट्सएप कॉल के जरिए मांगी फिरौती
परिजनों के मुताबिक किडनैपर्स ने फोन करके पचास लाख की फिरौती की मांग की गई है. व्हाट्सएप कॉल के जरिए फिरौती मांगने के बाद परिजनों ने पुलिस को मामले की जानकारी दी.पुलिस फोरेंसिंक टीम के साथ पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है. इस वारदात के बाद पुलिस ने सर्च अभियान चलाया है.किडनैपर्स ने दिया तीन दिन की डेडलाइन
वहीं, किडनैपर्स ने तीन दिन में फिरौती की रकम देने को कहा है.पीड़ित कारोबारी की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है.पुरानी ईदगाह कालोनी निवासी अनिल जैन का आटा चक्की के पटे बनाने का कारोबार है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. किडनैपर्स की लोकेशन ट्रेस की जा रही है.