नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 71वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले के प्राचीर से राष्ट्र के नाम संबोधन पढ़ा। उन्होंने अपने संबोधन में कई मुद्दों पर बात रखी। पीएम ने अपने भाषण में कहा कि तीन तलाक के कारण कुछ महिलाओं को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही हैं, तीन तलाक से पीड़ित बहनों ने देश में आंदोलन खड़ा किया, मीडिया ने उनकी मदद की। तीन तलाक के खिलाफ आंदोलन चलाने वाली बहनों का मैं अभिनंदन करता हूं, पूरा देश उनकी मदद करेगा।

मोदी के भाषण के बाद सोशल मीडिया पर भी तीन तलाक का मुद्दा छा गया। लोगों ने इस मुद्दे पर अपनी बात कही। कई लोगों ने मांग की कि तीन तलाक को जल्द से जल्द खत्म करना चाहिए, तो वहीं लोगों ने भाषण में इस बात का जिक्र करने पर पीएम मोदी की तारीफ भी की। मोदी ने कहा कि आज पूरा देश आजादी के पर्व के साथ जन्माष्टमी का पर्व भी मना रहा है। देश की आजादी के लिए जिन-जिन लोगों ने अपना योगदान दिया है, यातनाएं झेली हैं, बलिदान दिया है त्याग और तपस्या की परिकाष्ठा की है ऐसे सभी महानुभावों और माता-बहनों को लाल किले की प्राचीर से, 125 करोड़ भारतीयों की तरफ से शत्-शत् नमन।