सिंगापुर, प्रख्यात फिल्मकार अडूर गोपालकृष्णन ने कहा है कि फिल्म निर्माण की प्रक्रिया में बहुत सारी सामाजिक जिम्मेदारी होती है क्योंकि एक निर्देशक होने के नाते हमेशा दर्शकों की भावनाओं का खयाल रखना पड़ता है। गोपालकृष्णन यहां दक्षिण एशियाई अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में फिल्म क्रिटिक फोरम को संबोधित कर रहे थे। समकालीन फिल्मकार गिरीश कसरावली भी इसमें मौजूद थे।

गोपालकृष्णन ने कहा कि जब हम कोई फिल्म बनाते हैं, हम दर्शकों का सम्मान करते हैं। हम उनकी भावनाओं का ध्यान रखते हैं। उन्होंने कहा, यह बहुत महत्वपूर्ण है। फिल्म बनाने पर हम बहुत सारी सामाजिक जिम्मेदारी उठाते हैं। कसरावली ने कहा, हमें समाज को शामिल करना पड़ता है। महोत्सव में 35 दक्षिण एशियाई फिल्मों का प्रदर्शन हो रहा है जिसमें 29 फिल्में भारत की है। यह महोत्सव 10 सितंबर तक चलेगा।