जयपुर, सांगानेर सदर थाना पुलिस ने प्लाॅट देने के नाम पर फर्जी रसीद जारी कर दो लाख रूपये हड़पने वाले आरोपी राजकुमार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि रितुराज मीना निवासी भगवती नगर, करतारपुरा ने दर्ज कराया कि प्रोपर्टी का काम करने वाले उसके पिताजी के जानकार राजकुमार शर्मा ने प्रोपर्टी में निवेश करने के लिए झाँसा दिया और कहा कि मेरी स्वयं की ओम शिव गृह निर्माण सहकारी समिति है, जो प्लाट विकसित कर उसमें कॉलोनी काटकर बेचती है।

जिसके तहत उसकी सोसायटी द्वारा चौखी ढाणी के पीछे श्री राम की नांगल में राम नगर नाम की कॉलोनी विकसित कर प्लाट बेचे जा रहे हैं, जिसमें अच्छा निवेश कर सकते हैं। इस पर उसके पिताजी ने सन 1988 मे तीन प्लाट कुल 732 क्षेत्रफल के आरोपी राजकुमार को देने को कहा जिस पर आरोपी नेे सन 1988 में उक्त तीनों प्लाटों को बेचने के नाम पर उनकी कीमत 2 लाख रू प्राप्त कर रसीद दे दी, लेकिन उनका पट्टा, आवटंन पत्र व कब्जा नहीं दिया, हमारे द्वारा बार-बार तकाजा करने के बावजूद आरोपी राजकुमार शर्मा ने आज तक ना तो तीनों प्लाटों के पटटे दिये और ना ही हमारे से प्राप्त की गई 2 लाख रू की राशी वापिस की।

इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर की। अनुसंधान से आरोपी राजकुमार निवासी पृथ्वीराज नगर, महारानी फार्म दुर्गापुरा के खिलाफ प्लाट बेचने के नाम पर धोखाधड़ी पूर्वक परिवादी से 2 लाख प्राप्त कर आवंटन पत्र नहीं देना धारा 420,406 आईपीसी का अपराध प्रमाणित पाया जाने पर उसको गिरफ्तार किया गया है।