श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शुक्रवार को आतंकवादियों ने तीन पुलिस वालों की अगवा कर हत्या कर दी। आतंकियों ने शोपियां के कापरन गांव से तड़के सुबह इन तीन पुलिस वालों के साथ एक व्यक्ति का अपहरण किया था। यह व्यक्ति एक पुलिस वाले का रिश्तेदार था, जिसे बाद में छोड़ दिया गया, लेकिन पुलिस वालों को आतंकी जंगल में ले गए।

हिजबुल ने पुलिस वालों को दी थी धमकी
पुलिस वालों के शव कापरन गांव के पास मिले। इन्हें गोली मारी गई। बुलेट इनकी बॉडी से मिली हैं। शहीद हुए पुलिसवालों में दो स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) और 1 जवान शामिल है।
घरवालों को निशाना बना रहे हैं आतंकी
पिछले दिनों आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने पुलिसकर्मियों से इस्तीफा देने या मरने के लिए तैयार रहने की धमकी दी थी। हिजबुल के धमकी भरे पोस्टर जम्मू-कश्मीर के कई गांव में लगाए गए थे। सोशल मीडिया पर भी इस तरह के मैसेज भेजे थे।

आतंकियों ने अगस्त में कश्मीर के अलग-अलग इलाकों से पुलिसकर्मियों के 11 परिजन को अगवा किया था। ऐसा कहा गया कि प्रशासन को इन्हें छुड़ाने के लिए आतंकवादियों की मदद करने वालों और पूछताछ के लिए लाए गए उनके परिजन को छोड़ना पड़ा था।

कश्मीर में ईद के दिन आतंकियों ने तीन पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया था। पुलवामा में इंस्पेक्टर मोहम्मद अशरफ डार और स्पेशल पुलिस अफसर मोहम्मद याकूब की हत्या की गई थी। वहीं, कुलगाम में नमाज पढ़कर लौट रहे जवान फयाज अहमद भट को गोली मार दी गई थी।