नई दिल्ली:सरकार ने राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के अंतर्गत दो सौ चौवन परियोजनाओं के लिए 24 हजार करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। आज नई दिल्ली में इंडिया वॉटर इम्पेक्ट समिट-2018 का उद्घाटन करते हुए जल संसाधान, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पिछले चार वर्षों में इस कार्यक्रम के अंतर्गत करीब 5000 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं। 

जल संसाधन मंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय की प्राथमिकता गंगा में प्रदूषण के रोकथाम की है और इसको लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार मार्च अप्रैल में हमें रिजल्‍ट मिलेंगे और गंगा के जो वॉटर सैंपल टेस्‍ट किए गए है, अनेक जगहों पर 140 एमएलडी सीसा वाला पूरा हमने रोका है। वहीं बहुत जगह पर काम हो रहे हैं और मार्च अंत तक 70 से 80 परसेंट परिणाम आएंगे ऐसा मेरा विश्‍वास है।